शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली.कांग्रेसकेपूर्वनेतासज्जनकुमारने1984केसिखविरोधीदंगोंसेसंबंधितएकमामलेमेंजीवनपर्यंतकारावासकीसजाकाटनेकेलिएसोमवारकोएकस्थानीयअदालतमेंआत्मसमर्पणकरदिया.दिल्लीउच्चन्यायालयनेउन्हेंइसमामलेमेंदोषीठहरातेहुएयहसजासुनाईथी.उच्चन्यायालयनेकुमारकेआत्मसमर्पणकरनेकेलिये31दिसंबरतककीसमय-सीमानिर्धारितकीथी.उन्होंनेमेट्रोपोलिटनमजिस्ट्रेटअदितिगर्गकेसमक्षआत्मसमर्पणकिया.

हाईकोर्टने17दिसम्बरकोमामलेमेंसिखविरोधीदंगोंसेसंबंधितएकमामलेमेंफैसलासुनातेहुएभीदोषियोंको31दिसम्बरतकआत्मसमर्पणकरनेकासमयदियाथा.पूर्वपार्षदबलवानखोखर,नौसेनाकेसेवानिवृत्तअधिकारीकैप्टनभागमल,गिरधारीलालकोभीइसमामलेमेंदोषीठहरायाथा.अदालतनेसज्जनकुमारकीआत्मसमर्पणकेलिएऔरवक्तमांगनेसंबंधीअर्जी21दिसम्बरकोअस्वीकारकरदीथी.इसकेबादकुमारनेमामलेमेंताउम्रकैदकीसजाकेउच्चन्यायालयकेआदेशकोउच्चतमन्यायालयमेंचुनौतीदी.

1984कायेहैमामला

यहमामला1984दंगोंकेदौरानएक-दोनवम्बरकोदक्षिणपश्चिमदिल्लीकीपालमकॉलोनीमेंराजनगरपार्ट-1क्षेत्रमेंसिखपरिवारकेपांचसदस्योंकीहत्याकरनेऔरराजनगरपार्ट-2मेंएकगुरुद्वारेमेंआगेलगानेसेजुड़ाहै.तत्कालीनप्रधानमंत्रीइंदिरागांधीकी31अक्टूबर,1984कोउनकेसिखअंगरक्षकोंद्वाराहत्याकिएजानेकेबाददिल्लीसहितदेशकेकईहिस्सोंमेंसिखविरोधीदंगेभड़कगएथे.उच्चन्यायालयनेअपनेफैसलेमेंकहाथाकि1984दंगोंकेदौरान2700सेअधिकसिखराष्ट्रीयराजधानीमेंमारेगएजोकिवास्तवमें“अविश्वसनीयनरसंहार”था.

अदालतनेयेकहाथा

अदालतनेकहाथायेदंगे“राजनीतिकसंरक्षण”प्राप्तलोगोंद्वारा“मानवताकेखिलाफअपराध”थे.अदालतनेयहभीकहाथाकिबंटवारेकेबादसे1993मेंमुंबई,2002मेंगुजरातऔर2013मेंमुजफ्फरनगरकेनरसंहारमेंएकजैसीस्थितिहैऔरसभीमेंएकबातसमानहै.कानूनलागूकरनेवालीएजेंसियोंकीमददसेराजनीतिकसंरक्षणप्राप्तलोगोंद्वारा‘‘अल्पसंख्यकोंकोनिशानाबनाना.’’उच्चन्यायालयनेयहफैसलासुनातेहुएसज्जनकुमारकोबरीकरनेकानिचलीअदालतकानिर्णयरद्दकरदियाथा.

By Cooper