शारीरिक शिक्षा

लखनऊ,विधिसंवाददाता।इलाहाबादहाईकोर्टकीलखनऊखंडपीठनेपीलीभीतमेंवर्ष1991मेंदससिखोंकीफर्जीएनकाउंटरमेंहत्याकरनेकेमामलेमें34पुलिसकर्मियोंकीजमानतअर्जीखारिजकरदी।येसभी2016मेंदोषीकरारदिएगएथे।कोर्टनेपुलिसकर्मियोंकीअपीलकेविचाराधीनरहनेतकजमानतपररिहाकरनेसेसाफइन्कारकरदिया।उनकीअपीलोंपरअंतिमसुनवाईकेलिए25जुलाईकीतिथिनियतकीगईहै।यहआदेशजस्टिसरमेशसिन्हाऔरजस्टिसबृजराजसिंहकीपीठनेदेवेंद्रपांडेयवअन्यकीओरसेदाखिलजमानतप्रार्थनापत्रोंकोखारिजकरतेहुएपारितकिया।

अभियोजनकेअनुसार,कुछसिखतीर्थयात्री12जुलाई,1991कोपीलीभीतसेएकबससेतीर्थयात्राकेलिएजारहेथे।इसबसमेंबच्चेऔरमहिलाएंभीथीं।इसबसकोरोककर11लोगोंकोउतारलियागया।इनमेंसे10कीपीलीभीतकेन्योरिया,बिलसांदाऔरपूरनपुरथानाक्षेत्रोंकेक्रमश:धमेलाकुंआ,फगुनियाघाटवपट्टाभोजीइलाकेमेंएनकाउंटरदिखाकरहत्याकरदीगई।11वांशख्सएकबच्चाथा,जिसकाअबतककोईपतानहींचला।

इसकेसकीविवेचनाकरतेहुएपुलिसनेफाइनलरिपेार्टलगादी।इसकेबादएकअर्जीपरसुप्रीमकोर्टनेजांचसीबीआइकोसौंपदी।सीबीआइनेविवेचनाकेबाद57अभियुक्तोंकोआरोपितकिया।विचारणकेदौरानदसअभियुक्तोंकीमौतहोगई।सीबीआइकीलखनऊस्थितविशेषअदालतनेचारअप्रैल,2016को47अभियुक्तोंकोघटनामेंदोषीकरारदियाऔरउम्रकैदकीसजासुनाई।

सजाकेखिलाफसबनेहाईकोर्टमेंअलग-अलगअपीलेंदाखिलकीं।अपीलोंकेसाथसबनेजमानतअर्जियांभीदाखिलकीं।हाईकोर्टने12अभियुक्तोंकोउम्रयागंभीरबीमारीकेआधारपरपहलेहीजमानतदेदीथी।शेषकीजमानतअर्जीपरखारिजकरदी।उनकीअपीलोंकोअंतिमसुनवाईकेलिएसूचीबद्धकरदियाहै।

अपीलार्थियोंकीओरसेदलीलदीगईकिमारेगएदससिखोंमेंसेबलजीतसिंहउर्फपप्पू,जसवंतसिंहउर्फबिलजी,हरमिंदरसिंहउर्फमिंटाऔरसुरजानसिंहउर्फबिट्टूखालिस्तानलिबरेशनफ्रंटकेआतंकीथे।इसकेसाथहीउनपरहत्या,डकैती,अपहरणवपुलिसपरहमलेजैसेजघन्यअपराधकेमामलेदर्जथे।मृतकोंमेंकईकालंबाआपराधिकइतिहासथा।

इसबिंदुपरकोर्टनेकहाकिमृतकोंमेंसेकुछकाकोईआपराधिकइतिहासनहींथा।ऐसेमेंसभीकोआतंकीमानकरउन्हेंउनकीपत्नियोंऔरबच्चोंसेअलगकरकेमारदेनाकिसीभीतरहसेजायजनहींठहरायाजासकता।मृतकोंमेंसेकुछयदिअसामाजिकगतिविधियोंमेंशामिलभीथेवउनकाआपराधिकइतिहासथा,तबभीविधिकीप्रक्रियाकोअपनानाचाहिएथा।इसप्रकारकीबर्बरऔरअमानवीयहत्याएंउन्हेंआतंकीबताकरनहींकरनीचाहिएथी।

इनकीअर्जीहुईखारिज: रमेशचंद्रभारती,वीरपालसिंह,नत्थुसिंह,धनीराम,सुगमचंद,कलेक्टरसिंह,कुंवरपालसिंह,श्यामबाबू,बनवारीलाल,दिनेशसिंह,सुनीलकुमारदीक्षित,अरविंदसिंह,रामनगीना,विजयकुमारसिंह,उदयपालसिंह,मुन्नाखान,दुर्विजयसिंहपुत्रटोडीलाल,महावीरसिंह,गयाराम,दुर्विजयसिंहपुत्रदिलाराम,हरपालसिंह,रामचंद्रसिंह,राजेंद्रसिंह,ज्ञानगिरी,लखनसिंह,नाजिमखान,नारायनदास,कृष्णवीर,करनसिंह,राकेशसिंह,नेमचंद्र,शमशेरअहमद,सतिंदरसिंहवबदनसिंह।