शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,15अगस्त(भाषा)प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेपिछलेएकसालमेंकेंद्रसरकारद्वाराकिएगएकार्योंऔरलिएगएफैसलोंको‘‘असाधारण’’बतातेहुएदेशवासियोंकाआह्वानकियाकिवेआनेवालेसाल,जो21वींसदीकातीसरादशकहोगा,कोसपनोंकोपूराकरनेकादशकबनाएं।लालकिलेकीप्राचीरसे74वेंस्वतंत्रतादिवसकेमौकेपरदेशवासियोंकोसंबोधितकरतेहुएमोदीनेकहाकिआजभारतनेअसाधारणगतिसेअसंभवकोसंभवकियाहैऔरइसीइच्छाशक्ति,इसीलगन,इसीजज्बेकेसाथप्रत्येकभारतीयकोआगेबढ़नाहै।उन्होंनेकहा,‘‘वर्ष2022हमारीआजादीके75वर्षकापर्वअबबसआहीगयाहै।हमएककदमदूरहै।हमेंदिन-रातएककरदेनाहै।21वींसदीकायहतीसरादशकहमारेसपनोंकोपूराकरनेकादशकहोनाचाहिए।’’मोदीनेअपनेसंबोधनमें‘‘आत्मनिर्भरभारत’’परखासाजोरदियाऔरइसेविश्वकल्याणकेलिएभीजरूरीबतायातथाभारतकेविकासकीएकभावीरूपरेखाप्रस्तुतकी।साथहीकहाकिकोरोनाबड़ीविपत्तिहैलेकिनइतनीबड़ीभीनहींकि‘‘आत्मनिर्भरभारत’’कीविजययात्राकोरोकपाए।उन्होंनेकहाकिबीतेएकसालमेंहीदेशनेबड़ेऔरमहत्वपूर्णफैसलोंकेपड़ावकोपारकरलियाहै।उन्होंनेकहा,‘‘गांधीजीकी150वींजयंतीपरभारतकेगांवोंनेखुदकोखुलेमेंशौचसेमुक्तकियाहै।आस्थाकीवजहसेप्रताड़ितशरणार्थियोंकोनागरिकतादेनेकाकानून,दलितों,पिछड़ों,ओबीसीकेलिएआरक्षणकेअधिकारकोबनानेकीबातहो,असमऔरत्रिपुरामेंऐतिहासिकशांतिसमझौताहो,फौजकीसामूहिकशक्तिकोऔरप्रभावीबनानेकेलिएचीफऑफडिफेंसस्टाफकीनियुक्तिहो,करतारपुरसाहिबकॉरिडोरकारिकॉर्डसमयमेंनिर्माणहो...देशनेइतिहासबनाया,इतिहासबनतेदेखा,असाधारणकामकरकेदिखाया।’’अयोध्यामेंभगवानरामकेभव्यमंदिरकेनिर्माणकेशिलान्यासकाजिक्रकरतेहुएमोदीनेकहाकिइससदियोंपुरानेविषयकाशांतिपूर्णसमाधानहोचुकाहै।उन्होंनेकहा,‘‘देशकेलोगोंनेजिससंयमकेसाथऔरसमझदारीकेसाथआचरणकियाहै,व्यवहारकियाहै,यहअभूतपूर्वहैऔरभविष्यकेलिएहमारेलिएप्रेरणाकारकहै।शांति,एकताऔरसद्भावना...यहीतोआत्मनिर्भरभारतकीताकतबननेवालीहै।यहीमेलजोल,यहीसद्भावभारतकेउज्ज्वलभविष्यकीगारंटीहै।इसीसद्भावकेसाथहमेंआगेबढ़नाहै।’’उन्होंनेकहाकिइसीसद्भावकेसाथदेशकोआगेबढ़नाहैऔरविकासकेमहायज्ञमेंहरहिन्दुस्तानीकोअपनीकुछनकुछआहुतिदेनीहै।मोदीनेकहाकिइसदशकमेंभारतनईनीतिऔरनईरीतिकेसाथहीआगेबढ़ेगा।उन्होंनेकहाकि‘होताहै’और‘चलताहै’कावक्तअबचलागयाहै।उन्होंनेकहा,‘‘हमदुनियामेंअबकिसीसेकमनहीं।हमसबसेऊपररहनेकाप्रयासकरेंगे।औरइसलिएहमसर्वश्रेष्ठउत्पादन,सर्वश्रेष्ठमानवसंसाधन,सर्वश्रेष्ठशासन...हरचीजमेंसर्वश्रेष्ठकेलक्ष्यकोलेकरआजादीके75वेंसालकेलिएहमेंआगेबढ़नाहै।’’उन्होंनेकहाकिनीति,प्रक्रिया,औरउत्पादसबकुछउत्तमसेउत्तमहोंतभी‘‘एकभारत-श्रेष्ठभारत’’कीपरिकल्पनासाकारहोगी।आनेवालीपीढि़यों,130करोड़देशवासियोंऔरआत्मनिर्भरभारतकेलिएफिरसेसंकल्पलेनेकाआह्वानकरतेहुएमोदीनेलोगोंसेसंकल्पलेनेकोकहाकिवेआयातकोकमसेकमकरनेकीदिशामेंयोगदानदेंऔरघरेलूलघुउद्योगोंकोसशक्तकरें।उन्होंनेकहा,‘‘हमसबलोकलकेलिएवोकलबनेंगेऔरहमनवपरिवर्तनलाएंगे।हमअपनेयुवाओंको,महिलाओंकोआदिवासियोंको,दिव्यांगोंको,दलितोंको,गरीबोंको,गांवोंको,पिछड़ोंकोऔरहरकिसीकोसशक्तकरेंगे।’’प्रधानमंत्रीनेकहाकिभारतनेअसाधारणगतिसेअसंभवकोसंभवकियाहै।‘‘इसीइच्छाशक्ति,इसीलगन,इसीजज्बेकेसाथप्रत्येकभारतीयकोआगेबढ़नाहै।’’उन्होंनेकहा,‘‘मैंदेखसकताहूं,एकनयेप्रभातकीलालिमा,एकनयेआत्मविश्वासकाउदय,एकनयेआत्मनिर्भरभारतकाशंखनाद।’’मोदीनेस्वाधीनतादिवसकीशुभकामनाएंदेतेहुएअपनेसंबोधनकासमापन‘‘भारतमाताकीजय’’,‘‘वंदेमातरम्’’और‘‘जयहिंद’’केनारेसेकिया।

By Cook