शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,रांची:सोमवारकोश्रीकृष्णकाजन्मोत्सवहै।भाद्रपदकृष्णपक्षअष्टमीतिथिकोहीविष्णुरूपभगवानश्रीकृष्णमानवरूपमेंधरतीपरजन्मलिएथे।भगवानकेआगमनकोलेकरराजधानीमेंउत्साहकावातारणहै।मंदिरसज-धजकरतैयारहैं।घरोंमेंपूजाकीविशेषकीतैयारीचलरहीहै।सोमवारकीरात12.30बजतेहीमंदिरोंमेंशंख,घंटेकीध्वनिकेबीचकान्हाकास्वागतकियाजाएगा।कान्हाकोझूलाझुलायाजाएगा।माखन-मिश्रीकाभोगलगाकरप्रसादबाटेंजायेंगे।वहीं,श्रद्धालुव्रतरखकरसर्वमंगलकीकामनाकरेंगे।मंगलवारकोसूर्योदयकेबादपारणहोगा।कोरोनासंक्रमणकोदेखतेहुयेमंदिरमेंसीमितसंख्यामेंहीश्रद्धालुओंकोप्रवेशमिलेगा।मंदिरकेपुजारीहीपूजासंपन्नकरायेंगे।पंडितबिपिनपांडेयकेअनुसारइसबारजन्मोत्सवपरअष्टमीतिथि,रोहिणीनक्षत्रऔरसोमवारकादिनजयंतीयोगबनारहाहैजोकिमनोकामनापूराकरनेवालाहै।जन्मकेबादश्रीकृष्णकोपालनेपरझुलानेकीहैपरंपरा

-झूलाहैजरूरी:श्रीकृष्णजन्माष्टमीपरभगवानकेलड्डूगोपालरूपकीपूजाहोतीहै।इसदिनरात12.30बजेभगवानकोजन्मकेबादपालनेमेंझूलानेकीपरंपराहै।इसकेलिएपालनेमेंमुलायमकपड़े,मखमलयारेशमीआसनबिछाए।इसेअपनेरूचिकेहिसाबसेसजाएं।-रंग-बिरंगेवस्त्रकाकरेंचुनाव:मान्यताहैकिभगवानकृष्णकोपीतांबरहीपहनायाजाताहै।मगरअबलोगभगवानकाअपनीरूचिकेअनुसारथीमबेसपरश्रृंगारकरनापसंदकरतेहैं।इसथीममेंगुजराती,पंजाबी,मराठी,बिहारीथीमकेकपड़ेशामिलहोतेहैं।ऐसेमेंआपरंग-बिरंगकेकपड़ोंकाचुनावकरसकतेहैं।-मोरपंखहैजरूरी:

भगवानकृष्णसिरपरमोरपंखधारणकरतेहैं।सिरपरमोरपंशपहननेकेलिएछोटीपगड़ीयासाफाभीपहनायाजाताहै।आपटोपीकाचुनावअपनेमनसेकरसकतेहैं।-कृष्णकोप्रियहैबांसुरी:भगवानकृष्णकोबांसुरीबेहदप्रियहै।वोवृंदावनमेंगोपियोंकेसाथबांसुरीबजाकररासकरतेथे।बाजारमेंसोने,चांदीऔरकईतरहकीरंग-बिरंगीबांसुरीउपलब्धहै।-श्रृंगारभीहैप्रिय:जन्माष्टमीकेदिनभगवानकेश्रृंगारमेंकुंडल,मालाऔरपायलकोभीशामिलकियाजाताहै।भगवानकोश्रृंगारकीयेवस्तुएंबेहदप्रियहै।बाजारमेंजन्माष्टमीकीरौनक,सजींदुकानें

श्रीकृष्णजन्माष्टमीकोलेकररांचीकेबाजारमेंरौनकदेखनेकोमिलरहीहै।अपरबाजारसेलेकरपिस्कामोड़,रातू,हरमू,लालपूर,कोकर,डोरंडा,हिनू,धुर्वा,सिंहमोड़आदिबाजारोंमेंलड्डूगोपालकीधूमहै।इसबारश्रीकृष्णजन्माष्टमीभादोमासकेपहलेपक्षकीअष्टमीकोमनाईजातीहै।कोरोनासंक्रमणकोदेखतेहुयेबड़ेआयोजननहींहोगा।इसकेबावजूदपालनासेलेकरपूजन,सामग्रीऔरबालगोपालकेवेषकेकपड़ोंकीजमकरबिक्रीहुई।श्रीकृष्णजन्माष्टमीकेपूर्वसंध्यापरलोगोंनेबालगोपालकोसजानेकेलिएआकर्षकडिजाइनवालेकपड़ोंकीखरीददारीकी।

दूसरीबारभीअलबर्टएक्काचौकपरनहींहोगीदही-हांडीप्रतियोगिताश्रीकृष्णजन्मोत्सवसमितिरांचीद्वाराप्रत्येकसालश्रीकृष्णजन्माष्टमीपरअलबर्टएक्काचौकपरदहीहांडीझांकीप्रतियोगिताकाभव्यआयोजनहोताहै।देरराततकभजनसंकीर्तनचलताहै।हजारोंकीभीड़उमड़तीथी।कोरोनासंक्रमणकोदेखतेहुयेइसबारभीसार्वजनिककार्यक्रमनहींहोंगे।

समितिकेसंरक्षकसहसांसदसंजयसेठ,संरक्षकअजयमारू,अध्यक्षमुकेशकाबरानेझारखंडकेसभीकृष्णप्रेमियोंसेइसजन्माष्टमीकोअपनेअपनेघरोंमेंहीबड़ेहीधूमधामसेमनानेकाअनुरोधकियाहै।उन्होंनेकहाकिइसबारअपनेघरोंमेंहीआपदहीहांडीसजाकरलगावेउसकाभव्यसिगारकरउसेभव्यरूपदें।प्राचीनराधाकृष्णमंदिरमेंउल्लासपूर्वकमनेगीजन्माष्टमी

लोअरचुटियाकेप्राचीनश्रीराधाकृष्णमंदिरमेंश्रीकृष्णजन्मउत्सवउल्लासपूर्वकमनायाजाएगाप्राचीनश्रीराधाकृष्णमंदिरनिर्माणसमितिकेमहामंत्रीराजकुमारमहतोनेबतायाहैसुबहसेहीबालगोपालकीपूजनशुरूहोजाएगी।झूलेकीसजावटहोगी।बालगोपालकेजन्महोनेकेबादउसेझुलायाजाएगा।सभीमूर्तियोंकापोशाकबदलाजाएगा।रातमें12:00बजेजन्मउत्सवमनायाजाएगा।प्रसादकावितरणभीकियाजाएगा।इनसबसेपहलेकथाहोगी,बालगोपालकेजन्मसेपहलेकलशस्थापनाहोगा।पंचदेवताकापूजनहोगा।रातभरमंदिरमेंभजनकीर्तनहोंगे।

By Cooke