शारीरिक शिक्षा

आगरा,जागरणसंवाददाता। कोराेनाकीदूसरीलहरनेतीनबच्चोंसेउनकेपिताकोछीनलिया।मांकेसाथतीनोंबच्चेकिसीतरहइससदमेसेउबरनेकेसाथहीभविष्यसंवारनेकीचुनौतीसेजूझरहेथे।कोरोनासंक्रमणकेप्रकोपकीदूसरीलहरनेमांकोभीउनसेछीनलिया।इसनेभाई-बहनोंकोदुनियाकीमुश्किलोंसेलड़नेकेलिएअकेलाकरदिया।अब18सालकीबेटीपरछोटेभाई-बहनकीजिम्मेदारीहै।उसेअपनेसाथभाई-बहनकाभविष्यमेंसंवारनाहै।

न्यूआगराइलाकेमेंरहनेवालेमहेशयादवकाआरओप्लांटथा।परिवारकापालन-पोषणऔरतीनबच्चोकीपढाईइसीआरओप्लांटपरनिर्भरथी।परिवारमेंपत्नीमनोरमाकेअलावादोबेटीऔरएकबेटाहै।परिवारकीमुश्किलेंइससालजनवरीसेशुरूहुईं।महेशयादवमेंकोरोनाकेलक्षणदिखाईदिए।उन्हें22जनवरीकोदिलकादौरापड़नेसेमौतहोगई।पतिकीमौतकेबादआरओप्लांटबंदहोगया।पत्नीमनोरमाकिसीतरहसेपरिवारऔरतीनबच्चोंकीजिम्मेदारीउठारहीथी।

अप्रैलकेआखिरीसप्ताहमेंमनोरमाभीकोरोनासंक्रमितहोगईं।उन्हेंतेजबुखारकेसाथसांसलेनेमेंदिक्कतकीशिकायतहुई।अस्पतालोंमेंबेडऔरआक्सीजननहींमिलरहीथी।किसीतरहएकअस्पतालमेंबेडमिली।स्वजनआक्सीजनसिलेंडरकीव्यवस्थाअपनेस्तरसेकरतेरहे।मगर,30अप्रैलकोआक्सीजनकास्तरकाफीकमपहुंचनेकेचलतेउनकीमौतहोगई।

परिवारकीजिम्मेदारीअब18सालकीबेटीपरहै।वहखुदअभीपढाईकररहीहै।छोटीबहनऔरभाईभीपढरहेहैं।आरओप्लांटबंदहोनेकेचलतेखराबहोगयाहै।आर्थिकसंकटसेजूझतेबच्चोंकेसामनेअपनीपढाईकेसाथ-साथरोजी-रोटीकासंकटहै।बच्चोंकेअभिभावकमहेशकेभाईबलरामकाकहनाथाकिपरिवारकासरकारीमददमिलजाएतोउनकीशिक्षामेंकोईबाधानहींआएगी।

हेल्पलाइनकोकियाफोन,मददकोआगेआईपंजाबीसभा

आर्थिकमुश्किलमेंघिरेबच्चोंनेपांचदिनपहलेचाइल्डहेल्पलाइनकोफोनकियाथा।उससेमददमांगीथी।जानकारीहोनेपरपंजाबीइनबच्चोंकीमददकोआगेआई।उसनेघरपहुंचकरबच्चोंसेमुलाकातकरउनकीमददकी।पंजाबीसभाकेप्रदीपपुरी,रोहितकत्याल,कांताखत्रीआदिनेबच्चोंकीपढाईऔररोजगारमेंहरसंभवमददकरनेकाआश्वासनदिया।