शारीरिक शिक्षा

रांची,[संजयकुमार]।राष्ट्रीयस्वयंसेवकसंघ(आरएसएस)केसहसरकार्यवाहवीभग्‍गैयानेकहाहैकिस्वदेशीकोईनारायाअभियानमात्रनहींहै,बल्कियहसमाजकीसुख,समृद्धि,सुरक्षाऔरशांतिसहितसमग्रव्यवस्थाओंकाआधारहै।वर्तमानमेंविकासकेजिसमॉडलकाअनुसरणकरतेहुएप्रकृतिकाअंधाधुंधदोहनकरमनुष्यकेउपयोगकेलिएव्यवस्थाएंखड़ीकीगईहैं,उससेविश्वमेंअशांति,अविश्वास,अराजकताऔरअसंतोषबढ़ताजारहाहै।

इसवजहसेविश्वमेंइसव्यवस्थासेयूटर्नलेनेकीव्याकुलताबढ़गईहै।विकासकेइसविनाशकारीमॉडलकोबदलनेकेलिएस्वदेशीजागरणमंचद्वारास्वदेशीस्वावलंबनअभियानप्रारंभकियागयाहै।संघसेसंबद्धसंगठनोंकेसाथ-साथगायत्रीपरिवार,जग्गीजीमहाराजसहितकईअन्यसंगठनोंनेभीइसअभियानमेंसहयोगकरनाशुरूकियाहै।संघप्रमुखडॉ.मोहनभागवतभीस्वदेशीअपनानेकाआह्वानकरचुकेहैं।

वेस्वदेशीजागरणमंचकेस्वदेशीस्वावलंबनअभियानकेसमन्वयकसतीशकुमारद्वारालिखितपुस्तक'भारतमार्चिंगटूवार्ड्सस्वदेशीस्वावलंबन'तथा'स्वदेशीस्वावलंबनकीओरभारत'केऑनलाइनविमोचनकेअवसरपरहैदराबादसेअपनेविचारव्यक्तकररहेथे।बादमेंअन्यभाषाओंमेंभीइसपुस्तककेप्रकाशनकीतैयारीहै।

सहसरकार्यवाहनेकहाकिपिछले250वर्षोंकोछोड़देंतोभारतसदैवहीसंपन्नगांवोंकादेशरहाहै।फिरसेकृषिकोविकासकाआधारबनानाहोगाऔरइसकाकेंद्रग्रामहो।भारतकोआत्मनिर्भरबनानेमेंग्रामीणशिल्पऔरकृषिआधारितउत्पादमहत्वपूर्णभूमिकानिभासकतेहैं।इसकेलिएलोगोंमेंजागरूकतापैदाकीजारहीहैऔरग्रामीणअर्थव्यवस्थाकेलिएएकीकृतदृष्टिकोणकोप्रोत्साहितकरनेकाप्रयासकियाजारहाहै।

छोटेउद्योगोंकोबढ़ावादेनेकाचलरहाप्रयास

वीभग्‍गैयानेकहाकिपिछलेडेढ़महीनेसेछोटेउद्योगोंकोबढ़ावादेनेकाप्रयासजारीहै।इसअभियानमेंश्रमिकों,किसानों,छोटेउद्यमियों,शिक्षाविदों,टेक्नोक्रेट,उद्योगऔरव्यापारजगतकेनेतृत्वकर्ताओंसहितअन्यक्षेत्रोंकेलोगोंकोशामिलकियागयाहै।विभिन्नसंगठनोंऔरसंघोंकेसहयोगसेहमलोगोंतकपहुंचबनारहेहैंऔरउन्हेंंस्वदेशीऔरस्थानीयउत्पादोंकोबढ़ावादेनेकेलिएप्रोत्साहितकररहेहैं।

अबतक10लाखलोगचीनीसामानोंकेबहिष्कारकाऑनलाइनलेचुकेहैंसंकल्प

स्वदेशीजागरणमंचद्वारा20मई2020सेस्वदेशीस्वावलंबनअभियानशुरूकियागयाथा।इसकार्यक्रमकेपहलेचरणमेंडिजिटलहस्ताक्षरअभियानशुरूकियागयाथा,जिसमेंलोगचीनीसामानोंकेबहिष्कारकासंकल्पलेरहेहैं।अबतक10लाखसेअधिकलोगइससंबंधमेंशपथलेचुकेहैं।पांचजुलाईकोइसकेलिएविशेषअभियानचलायाजाएगा।

By Craig