शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली:मोदीसरकारनेजीडीपीकेआंकड़ेजारीकरदियाहै.कोरोनावायरसमहामारीकेबीचभारतीयअर्थव्यवस्थामेंचालूवित्तवर्षमेंलगातारदोतिमाहीमेंगिरावटकेबादतीसरीतिमाहीअक्टूबर-दिसंबरमें0.4प्रतिशतकीवृद्धिहुईहै.

राष्ट्रीयसांख्यिकीकार्यालय(एनएसओ)केशुक्रवारकोजारीआंकड़ेमेंयहजानकारीदीगयीहै.इससेपूर्ववित्तवर्ष2019-20कीइसीतिमाहीमेंअर्थव्यवस्थामें3.3प्रतिशतकीवृद्धिहुईथी.

एनएसओकेराष्ट्रीयलेखाकेदूसरेअग्रिमअनुमानमें2020-21मेंसकलघरेलूउत्पाद(जीडीपी)में8प्रतिशतकीगिरावटकाअनुमानजतायागयाहै.जनवरीमेंएनएसओनेचालूवित्तवर्ष2020-21मेंअर्थव्यवस्थामें7.7प्रतिशतकीगिरावटकाअनुमानजतायाथा.एकसालपहले2019-20मेंजीडीपीमें4प्रतिशतकीवृद्धिहुईथी.

कोरोनावायरसमहामारीऔरउसकीरोकथामकेलियेलगायेगये‘लॉकडाउन’केकारणचालूवित्तवर्षकीपहलीतिमाहीमेंअर्थव्यवस्थामें24.4प्रतिशतकीगिरावटआयीथी.वहींदूसरीतिमाहीजुलाई-सितंबरमेंजीडीपीमें7.3प्रतिशतकीगिरावटआयीथी.चीनकीअर्थव्यवस्थामेंअक्टूबर-दिसंबर,2020में6.5प्रतिशतकीवृद्धिहुईथी.वहींजुलाई-सितंबरमेंवृद्धिदर4.9प्रतिशतरहीथी.

कईएजेंसियांपहलेसेहीइसबातकोकहरहीथींकितीसरीतिमाहीमेंअर्थव्यवस्थापॉजिटिवरहसकतीहै.इकोनॉमीकोपटरीपरलानेकीसरकारकीकोशिशकीवजहसेरेटिंगएजेंसियोंकोभारतमेंआर्थिकविकासदरबढ़नेकीउम्मीददिखनेलगीहै.

कुछदिनोंपहलेहीआर्थिकगतिविधियोंमेंबढ़ोतरीकोदेखतेहुएरेटिंगएजेंसीमूडीजनेवित्तवर्ष2021-22मेंभारतकीजीडीपीग्रोथकेअनुमानको10.8फीसदीसेबढ़ाकर13.7फीसदीकरदिया.मूडीजकामाननाहैकिआर्थिकगतिविधियोंमेंरफ्तारऔरकोविड-19कीवैक्सीनमार्केटमेंआनेसेभारतकीइकोनॉमीमेंतेजरिकवरीहोसकतीहै.इसकेसाथहीएजेंसीनेचालूवित्तवर्षकेदौरानजीडीपीमेंगिरावटकेअनुमानको10.6फीसदीसेघटाकर7फीसदीकरदिया.

WestBengalElection2021Dates:बंगालचुनावकीतारीखोंकाएलान,8चरणोंमेंडालेजाएंगेवोट|पढ़ेंमहत्वपूर्णतारीखें

By Cooper