शारीरिक शिक्षा

रातोंरातराधाबननेवालेआईजीडीकेपांडाकीकहानीभलाकौनभूलसकताहै।1971बैचकेआईपीएसअफसरपांडाकृष्‍णभक्तिमेंऐसासराबोरहुएकिअफसरीकेरुतबेकोताकपररखदिया।1991से2005तकपांडाकाराधारूपचोरी-छुपेचलतारहा।2005केबादपांडानेअपनेहावभावऔरपरिधानकोसार्वजनिककरदिया।पूर्वआईजीकेइसरूपमेंआनेकेबादवहमीडियाकीसुर्खियोंमेंखूबछाएरहे।उन्होंनेजबअपनेपदसेइस्तीफादियाथातबवहयूपीपुलिसमेंआईजीथे।उन्‍हींकीराहपरअबचलपड़ीहैंहरियाणाकीमहिलाआईपीएसभारतीअरोड़ा।50सालकीभारतीअबबाकीकाजीवनकृष्‍णभक्तिमेंबितानाचाहतीहैं।भारतीनेकियावीआरएसकेलिएअप्‍लाईभारतीअरोड़ाहरियाणाकीपहलीमहिलापुलिसअधिकारीहैंजिन्‍होंनेवीआरएसकेलिएअप्‍लाईकियाहै।वह50सालकीहैं।उन्‍होंनेसरकारसेतीनमहीनेकेनोटिसपीरियडसेभीछूटदेनेकीगुहारलगाईहै।उनकेआवेदनपरअभीतककोईफैसलानहींहुआहै।बतायाजारहाहैकिकईवरिष्‍ठपुलिसअधिकारीउनकोसमझानेकाप्रयासकररहेहैं।नईदिल्‍लीसेअटारीजारहीसमझौताएक्‍सप्रेसमें18फरवरी,2007कोबमब्‍लास्‍टहुआथा।इसमामलेकीजांचमेंहरियाणाकैडरकीआईपीएसभारतीअरोड़ाकीबड़ीभूमिकाथी।उससमयवहहरियाणाराजकीयरेलवेपुलिसमेंएसपीथीं।अंबालारेंजकीआईजीभारतीअरोड़ाअबबाकीकाजीवनकृष्‍णभक्तिकरतेहुएबितानाचाहतीहैं।उन्‍होंनेहरियाणासरकारसेस्‍वैच्छिकसेवानिवृत्ति(वीआरएस)केलिएआवेदनकियाहै।तेज-तर्रारअफसरकीमीराबाईबननेकीचाहभारतीअरोड़ाकारिटायरमेंट2031मेंहोनाहै।लेकिन,वहदससालपहलेहीवीआरएसलेनाचाहतीहैं।उन्‍होंनेबीते24जुलाईकोइसकेलिएडीजीपीकोपत्रभेजाहै।उनकाकहनाहैकिपुलिससेवाउनकेलिएगर्वऔरजूनूनरहीहै।अबआगेकीजिंदगीवहधार्मिकतरीकेसेबितानाचाहतीहैं।वहचैतन्‍यमहाप्रभु,कबीरदासऔरमीराबाईकीतरहप्रभुश्रीकृष्‍णकीसाधनाकरनाचाहतीहैं।उनकीशादीहरियाणाकैडरकेहीआईपीएसविकासअरोड़ासेहुईहै।उनकीछविएकतेज-तर्रारऔरबेहदसक्रियऑफ‍िसरकेतौरपररहीहै।​सुर्खियांबनगएथेडीकेपांडाइसकेपहलेकृष्‍णभक्तिमेंडूबकर'राधा'कारूपधारणकरनेवालेपूर्वआईजीडीकेपांडासुर्खियांबनेथे।डीकेपांडामूलरूपसेओडिशाकेरहनेवालेहैं।उत्तरप्रदेशकेपूर्वपुलिसअधिकारीदेवेंद्रकिशोरपांडाउर्फडीकेपांडा2005मेंखूबचर्चामेंआएथे।तबउन्‍होंनेखुदकोदूसरीराधाऔरकृष्णकीप्रेमिकाघोषितकरअपनेमहिलाहोनेकीघोषणाकीथी।पूर्वआईजीपांडाकाकहनाथाकिवहतो1991मेंउसीदिनराधाबनगएथे,जबएकबारउनकेसपनेमेंभगवानश्रीकृष्णनेआकरकहाकिवहपांडानहींबल्किउनकीराधाहैं,उनकीप्रेमिका।1991से2005तकपांडाकाराधारूपचोरीछुपेचलतारहा।2005केबादपांडानेअपनेहावभावऔरपरिधानकोसार्वजनिककरदिया।पूर्वआईजीकेइसरूपमेंआनेकेबादवहमीडियाकीसुर्खियोंमेंछाएरहे।वहनवविवाहिताकीतरहश्रृंगारकरते।मांगमेंसिंदूर,माथेपरबड़ी-सीबिंदी,हाथोंमेंमेंहदी,कोहनीतकरंगबिरंगीचूड़ियां,कानोंमेंबालियांऔरनाकमेंनथुनी,पीला-सलवारकुर्ता,पैरोंमेंघुंघरूऔरहरपलकृष्णभक्तिमेंभजनवनृत्ययहीउनकीपहचानथी।​बिहारकेपूर्वडीजीपीगुप्‍तेश्‍वरकाभीभक्तिमेंरमामनकभीराजनीतिमेंआनेकोलेकरबिहारकेपूर्वडीजीपीगुप्तेश्वरपांडेनेदोबारसरकारीसेवासेवॉलेंट्रीरिटायरमेंट(VRS)लिया।लेकिन,दोनोंबारउन्हेंमायूसीहीहाथलगी।पांडेकासियासतसेइसकदरमोहभंगहुआकिअबवेगेरुएकपड़ेमेंकथावाचककीभूमिकामेंआगएहैं।अपनीनईभूमिकाकोलेकरहालमेंगुप्तेश्वरपांडेनेकहाथाकिउन्‍होंनेअपनेआपकोभगवानकोसमर्पितकरदियाहै।देशकालपरिस्थितिकेअनुसारव्यक्तिकीप्राथमिकताएंबदलतीरहतीहैं।नईभूमिकामेंउनकाबहुतमनलगरहाहै।आत्माकीखुराकतोयहींहै।उन्‍होंनेअपनेआपकोभगवानकोसमर्पितकरदियाहै।ठाकुरजीकीइच्छासेहीसबकुछकरेंगे।उनकीअपनीकोईइच्छानहींहै।

By Connor