शारीरिक शिक्षा

नईदिल्लीसुप्रीमकोर्टमेंअयोध्याजमीनविवादमामलेकीसुनवाईजारीहै।आजसुनवाईका9वांदिनहै।बतादेंकिसुप्रीमकोर्टकीबेंचमामलेकीरोजानासुनवाईकररहीहै,लेकिनआठवेंदिनयानीसोमवारकोसुनवाईनहींहोपाईथी।कोर्टमेंफिलहालरामललाविराजमानकेवकीलसी.एसवैद्यनाथनअपनेतर्करखरहेहैं।रामजन्मभूमि-बाबरीमस्जिदजमीनविवादसुनवाईमेंक्यातर्कदिएगएऔरजजोंनेउसपरक्याकहा:रामललाकेवकीलवैद्यनाथन:जस्टिसअग्रवाल(इलाहाबादहाईकोर्टकेफैसलेकाहवाला)नेखुदलिखाहैकिअयोध्यामेंभगवानरामकाप्राचीनमंदिरढहादियागयाऔरउसकीजगहमस्जिदबनादीगई।इसकेबावजूदहिन्दूलोगोंकीउसस्थानकेप्रतिआस्थाकमनहींहुई।हिन्दूलोगवहांपरपहलेकीतरहजातेरहेऔरपूजाअर्चनाकरतेरहे।उन्होंनेकभीउसजगहपरपूजाकरनाबंदनहींकिया।सुप्रीमकोर्टसेवैद्यनाथन:मैंनेकोर्टकेसामनेपुरानेसभीतथ्यऔररिकॉर्डपेशकिएहैं।इनसेसाबितहोताहैकिरामजन्मभूमिभगवानरामकाजन्मस्थानहै।इसस्थानकेप्रतिलोगोंकीनिष्ठाशुरूसेचलीआरहीहै।सीएसवैधनाथन:पत्थरकीजिसपट्टीपरसंस्कृतकालेखलिखाहै,उसेविवादितढांचाविध्वंसकेसमयएकपत्रकारनेगिरतेहुएदेखाथा,इसमेंसाकेतकेराजागोविंदचंद्रकानामहै।साथहीलिखाहैकियेविष्णुमंदिरमेंलगीथी।जस्टिसचंद्रचूड़:क्यासेसबआर्कियोलॉजिकलसर्वेऑफइंडिया(ASI)केद्वाराइकट्ठाकियागयाथा?रामललाकेवकीलवैद्यनाथन:यहASIरिपोर्टमेंनहींथा,ASIकाफीबादमेंआईथी।ASIरिपोर्टकाहवालादेतेहुएवैद्यनाथननेआगेमगरमच्छ,कछुओंकाभीजिक्रकिया।उन्होंनेकहाकिइनकामुस्लिमकल्चरसेमतलबनहींथा।वैद्यनाथननेअदालतमेंएकरिपोर्टरकीरिपोर्टकोपढ़ाऔरबतायाकिजब6दिसंबर1992कोबाबरीमस्जिदकाढांचागिरायागयातोजोस्लैबवहांसेगिररहीथीं(रिपोर्टरनेइसकीतस्वीरभीखींचीथी)बादमेंपुलिसनेउनस्लैबकोजब्तकरलियाथा।वैद्यनाथनकेमुताबिक,जर्नलिस्टकोक्रॉसएग्जामिनकियागयाथातोउसनेबतायाकियहपत्थरदक्षिणीगुंबदकीपश्चिमीदीवारपरलगायागयाथा,यद्यपिवहयहनहींकहसकताथाकिवास्तवमेंवहपत्थरदीवारपरकहांहै।सीएसवैद्यनाथन:मेरासबमिशनहैकिपत्रकारऔरडॉरमेशकेक्रॉसएग्जामिनसेकिसीप्रकारकाकोईसंदेहनहीहोताकिस्लैबविवादितस्थलहीमिला।सीएसवैद्यनाथननेकहाकियहस्लैबASIकेनिष्कर्षोंकासमर्थनकरताहैकिइसस्थानपरएकविशालमंदिरथा,विवादितस्थलपरमस्जिदयातोमंदिरकेअवशेषपरबनीयामंदिरकोगिराकरबनाईगई।चीफजस्टिसरंजनगोगोईकीअध्यक्षतावाली5सदस्यीयसंवैधानिकपीठइसमामलेकीसुनवाईकररहीहै।इससंवैधानिकपीठमेंजस्टिसएस.ए.बोबडे,जस्टिसडी.वाई.चंद्रचूड़,जस्टिसअशोकभूषणऔरजस्टिसएस.ए.नजीरभीशामिलहैं।पूराविवाद2.77एकड़कीजमीनकोलेकरहै।आठवेंदिनक्योंनहींहुईसुनवाईसुप्रीमकोर्टमेंरामजन्मभूमि-बाबरीमस्जिदजमीनविवादमामलेपरसोमवारकोसुनवाईनहींहुई।पताचलाकिचीफजस्टिसरंजनगोगोईकेकिसीअत्यावश्यककाममेंफंसेहोनेकेकारणसुनवाईनहींहोपाई।सूत्रनेस्पष्टकियाकिपीठकेसभीपांचजजसुप्रीमकोर्टमेंमौजूदथेऔरकुछगलतफहमीथीकिन्यायमूर्तिएसएबोबडेआजउपलब्धनहींथे।अधिकारियोंनेकहाकिन्यायमूर्तिबोबडेदिनभरअपनेचैंबरमेंकामकररहेथे।इससेपहलेकीसभीसुनवाईमेंक्या-क्यापक्षरखेगएयहांक्लिककरजानें