शारीरिक शिक्षा

मधुबनी।आजादीकेदशकोंबादभीमधवापुरगांधीचौकस्थितगांधीस्मारकभवनवर्षोंसेबापूकीप्रतिमास्थापितकरनेकीबाटजोहरहाहै।प्रतिमास्थापनाकीबाटजोहते-जोहतेस्मारकभवनकाव्यवसायियोंनेअतिक्रमणकरलिया।उसमेंतंबाकू,फलऔरअंडाकीदुकानेंसजालीहैं।इतनाहीनहींसीमासुरक्षामेंतैनातमधवापुरएसएसबीकेजवानड्यूटीकेदौरानइसस्मारकभवनमेंआरामफरमातेहैं।

बतातेचलेंकितत्कालीनस्वतंत्रतासेनानियों,जनप्रतिनिधियोंएवंसामाजिककार्यकर्ताओंकेप्रयाससेभारत-नेपालसीमाकेबगलमेंसरकारीजमीनपरराष्ट्रपिताकीप्रतिमास्थापितकीगईथी।वर्ष1985केदौरानयहप्रतिमाटूटगई।इसकेबादस्थानीयराजनीतिकदलोंकेकार्यकर्ताओंएवंसामाजिककार्यकर्ताओंकीपहलपरबाहरकेएकव्यवसायीनेगांधीस्मारकभवनकाअधूरानिर्माणकरायागया।तबसेलेकरआजतकस्मारकभवनमेंगांधीजीकीप्रतिमास्थापितनहींहोसकीहै।कईबारस्थानीयजनप्रतिनिधियोंएवंसामाजिककार्यकर्ताओंकीपहलसेराजनेताओंनेप्रतिमास्थापितकरनेकाआश्वासनदिया।मगर,आजतकउक्तस्मारकभवनमेंप्रतिमास्थापितनहींहोनेसेआमजनोंमेंगहराआक्रोशहै।स्थानीयलोगोंकेद्वारास्मारकभवनकाअतिक्रमणकरउसमेंदुकानचलाईजारहीहै।जदयूनेतारामबाबूसाह,पंससममतारानी,डॉ.रामबिहारीपूर्वे,चेतनरश्मिआदिलोगोंनेकहाकिअधिकारियोंवजनप्रतिनिधियोंकीउपेक्षाकेकारणगांधीजीकीप्रतिमास्थापितनहींहोनेसेआमजनोंमेंआक्रोशहै।इनलोगोंनेजिलाधिकारीसेप्रतिमास्थापितकरनेकीमांगकीहै।

By Dale