शारीरिक शिक्षा

लखन,17नवंबरभाषाअयोध्यामुद्देकाबातचीतऔरपरस्परसहमतिकेजरिएसमाधानखोजनेकेप्रयासकेतहतआर्टऑफलिविंगकेसंस्थापकश्रीश्रीरविशंकरनेआजराजधानीलखनमेंमुस्लिमधार्मिकनेताओंसेबातचीतकी।ऑलइंडियामुस्लिमपर्सनललॉबोर्डकेसदस्यमौलानाखालिदराशिदफरंगीमहलीकेसाथबैठककेबादरविशंकरनेसंवाददाताओंसेकहा,बातचीतकेजरिएहमहरसमस्याहलकरसकतेहैं।अदालतकासम्मानहैलेकिनअदालतदिलोंकोनहींजोड़सकती...अगरहमारेदिलसेएकफैसलानिकलेतोउसकीमान्यतासदियोंतकचले।रविशंकरकलअयोध्यामेंभीविभिन्नधार्मिकनेताओंसेमिलेथे।सवालोंकेजवाबमेंउन्होंनेकहाकिदेशसेजुडे़सभीमुद्दोंपरबातचीतकीजरुरतहै।भाईचारेऔरपुरानीसंस्कृतिकोआगेबढ़ानेकीजरुरतहै।एकअन्यसवालकेजवाबमेंरविशंकरनेकहाकिहममानतेहैंकिकाफीदेरहोचुकीहैलेकिनसंभावनाएंमौजूदहैं।हमकोईएजेंडालेकरनहींचलरहेहैंबल्किएकरास्ताखोजरहेहैं।उन्होंनेसंवाददाताओंसेकहा,समयदीजिए।बहुतजल्दबाजीमतकरिए।हमसबसेबातकरेंगे।मुझोपूराविासहैकिजबधार्मिकलोगएकत्रहोंगेतोसबसेबातहोगी।रविशंकरनेयहविासभीजतायाकिइसप्रयासकेजरिएदेशकेलिएकुछबड़ाहासिलकियाजासकेगा।फरंगीमहलीनेकहाकिअगरदोनोंओरकेनेताहरस्तरपरनियमितरूपसेबैठकरबातकरेंतोमतभेददूरहोजाएंगे।रविशंकरकलफैजाबादऔरअयोध्यामेंनिर्मोहीअखाडे़केधीरेन्द्रदासऔरमुस्लिमबुद्धिजीवियोंसेमिलेथे।अयोध्याजानेसेपहलेवहउारप्रदेशकेमुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथसेलखनमेंमिलेथे।रविशंकरनेकहाकिकोईसौहार्द्रकेविरोधमेंनहींहै।येअभीशुरूआतहै।हमसबसेबातकरेंगे।रविशंकरनेअयोध्यामुद्देकेसमाधानकेलिएमध्यस्थताकीपेशकशकीथी।दोनोंहीसमुदायोंकेकुछसंगठनउनकीभूमिकाकोलेकरआपािव्यक्तकरचुकेहैं।भाषाअमृत