शारीरिक शिक्षा

मेलबर्न,19सितंबर(भाषा)क्रिकेटऑस्ट्रेलिया(सीए)केचिकित्साविशेषज्ञोंकेअध्ययनकेमुताबिकसख्तजैव-सुरक्षितमाहौल(बायो-बबल)सेजुड़ेतनावकाखिलाड़ियोंकेमानसिकस्वास्थ्यपर‘बुराअसर’पड़रहाहैजिससेहोनेवालेनुकसानसेबचनेकेलिएसंतुलनबनानेकीआवश्यकताहै।सिडनीमॉर्निंगहेराल्डकीएकरिपोर्टकेअनुसार,सीएकेमानसिकस्वास्थ्यप्रमुखमैटबर्गिनऔरमुख्यचिकित्साअधिकारीडॉजॉनऑर्चर्डने‘ब्रिटिशएसोसिएशनऑफस्पोर्टएंडएक्सरसाइजमेडिसिन’केलिएएकलेखमेंइसकाजिक्रकियाहै।उन्होंनेलिखा,‘‘प्रतिस्पर्धासेजुड़ेतनावकालंबेसमयमेंबुराप्रभावहोसकताहैऔरयहसंभवहैकिघटनाकेसप्ताहयाकुछमहीनोंकेबादभीनकारात्मकप्रभावोंकाअनुभवकियागयाहो।’’उन्होंनेकहा,‘‘ऐसेखिलाड़ियोंजिन्हेंअक्सरजुझारूपनकेलिएसराहाजाताहैउन्हेंभीइसस्थितिकासामनाकरनेकीचुनौतीसेनिपटनाहोताहै।उनकेलिएभीअपनेमानसिकस्वास्थ्यकोबनाएरखनेकेलिएनएतरीकोंकोअपनानेऔरविकसितकरनाचुनौतीपूर्णहोताहै।’’उन्होंनेबताया,‘‘बायो-बबलसेजुड़ेअधिकांशलक्षणोंकाउपचारआसानीसेहोसकताहैलेकिनखिलाड़ियोंकीभीइसतरीकेकीसहनशीलताकीएकसीमाहोतीहै।’’दोनोंविशेषज्ञोंनेबायोबबलमेंखिलाड़ियोंकोमानसिकस्वास्थ्यकीपरेशानीसेबचनेकेलिएसंतुलनबनानेकीआवश्यकतापरजोरदिया।बर्गिनऔरऑर्चर्डनेलिखा,‘‘इसतरहकीनिराशाजनकस्थितिसेबचनेकेलिएएकसीमाहोनीचाहिये।खिलाड़ीअपनेमानसिकस्वास्थ्यकाजिम्मेदारखुदहोताहै।’’उन्होंनेकहा,‘‘कोविड-19कोखेलसेदूररखनेकेलिएप्रोटोकॉलकेसंतुलनकीआवश्यकताहोगी।इसमेंइतनीसख्तीनहींहोनीचाहियेकिखिलाड़ियोंकेमानसिकस्वास्थ्यपरअत्यधिकप्रभावपड़े।’’