शारीरिक शिक्षा

टूंडला,(फीरोजाबाद)संस,अखिलभारतीयबौद्धभिक्षुवबौद्धमहासम्मेलनकेतहतमंगलवारसुबहनगरमेंबौद्धभिक्षुभ्रमणवधम्मसंदेशयात्रानिकालीगयी।जिसमेंदोसौसेअधिकबौद्धभिक्षुओंनेभागलिया।

यात्राकाशुभारम्भनगलाराधेलालस्थितआंबेडकरपार्कसेबौद्धवंदनाकेसाथहुआ।यात्रासब्जीमंडी,भारतमाताचौक,सिटीसेन्टर,बिहारीबिलास,कोतवाली,मुख्यबाजार,दीपाचौराहाहोतेहुएनगलारतीस्थितबौद्धबिहारपरपहुंचकरसमाप्तहुई।देश-विदेशसेआएबौद्धभिक्षुओंनेकहाकिधम्मकीशरणमेंपहुंचनेसेहीमानवताकीरक्षाहोसकतीहै।बौद्धकेधम्ममेंजातिवाद,धर्मवादकाकोईस्थाननहींहै।दलितसमाजकेलोगोंनेहजारोंवर्षसेछूआछूतवतिरस्कारकादंशझेलाथा।असमानताकाव्यवहारसहनकियाथा,लेकिनबौद्धधम्मनेहीइनसभीकोबुराईयोंसेबचानेकाकामकियाहै।धम्ममेंऊंच-नीच,असमानता,बड़ा-छोटा,छूआछूतकाकोईस्थाननहींहै।बौद्धधर्मकागुणगानकरतेहुएउन्होंनेकहाकिबौद्धधर्मअपनानेसेहीविकासकेरास्तेखुलतेहैं।बौद्धधर्मअपनाकरजापानआजदुनियाकीसबसेबड़ीताकतोंमेंशामिलहै।यात्राकानगरमेंकईस्थानोंपरस्वागतकियागया।यात्रामेंश्रीलंका,नेपाल,जापानआदिदेशोंकेबौद्धभिक्षुशामिलरहे।समाजसेवीनेतासूर्यकांतनेसभीबौद्धभिक्षुओंकास्वागतकिया।यात्राकानेतृत्वसमाजसेवीसूर्यकांतनेकिया।इसदौरानडॉ.ज्ञानसिंह,लाखनसिंहवर्मा,स्नेहलताबबली,एमपीसिंहबौद्ध,शशीकांतपुष्कर,लक्ष्मणसिंह,नरवेन्द्रसिंह,सुभाषबौद्ध,बीएसगौतम,जंडेलसिंह,शिवशंकर,विपिनबौद्ध,सुखवीरराजन,करनसिंहबौद्ध,भूरीसिंह,प्रेमपालसिंह,धर्मेन्द्रकुशवाह,मो.साहिद,जयवीरजाटव,बीडीदेशमुख,मुरारीलाल,रामप्रकाशबाबा,ऊषाकर्दम,हरीशंकर,लताबौद्ध,उर्मिलाबौद्ध,राकेशकुमारएड,धनीरामसरल,पवनकीर्ति,संजयसागर,बलवीरसिंहआदिउपस्थितरहे।

By Daniels