शारीरिक शिक्षा

मधुबनी।जिलेकेखुटौनाप्रखंडकेबेलागांवमेंप्राचीनचतुर्भुजीमातादुर्गाश्रद्धालुओंकाकल्याणकरतीहैं।गांवकेएकांतस्थानमेंमाताविराजरहींचतर्भुजीमातादुर्गामंदिरमेंदुर्गापूजापरजिलाकेअलावानेपालसेबड़ीसंख्यामेंश्रद्धालुपहुंचतेहैं।इतिहासमानाजाताहैकिचतुर्भुजीदुर्गाप्रतिमाअतिप्राचीनहै।शांतमुद्रावालीमाताकीआशीर्वाददेतीप्रतिमाश्रद्धालुओंकीआध्यात्मिकउन्नतिप्रदानकरतीहै।स्थानीयलोगोंकेअनुसारचतुर्भुजीदुर्गाप्रतिमास्थानीयएकतालाबकीखोदाईसेप्राप्तहुईहै।बादमेंग्रामीणोंद्वारामाताकीपूजा-अर्चनाकेसाथमंदिरकानिर्माणकरायागया।मंदिरकेजीर्णोद्धारकीयोजनाबनायीगईहैं।विशेषताएंमान्यताहैकितालाबसेदुर्गाप्रतिमामिलनेकेबादसेगांवकाकल्याणहोरहाहै।करीबपांचदशकपुरानायहमंदिरछोटाहै।शारदीयनवरात्रकेदौरानप्रतिदिनमाताकेश्रृंगारअनुष्ठानमेंबड़ीसंख्यामेंश्रद्धालुशामिलहोतेहै।आसपासकेभजनमंडलीद्वाराभजनकार्यक्रमकीप्रस्तुतीकीजातीहै।भजनसंध्यासेमंदिरपरिसरकामाहौलभक्तिमयबनारहताहै।मंदिरपरिसरमेंश्रद्धालुओंकोअसीमशांतिमिलतीहै।

बेलादुर्गामंदिरआनेवालेभक्तोंकीमनोकामनामैयाअवश्यपूरीकरतीहै।दुर्गापूजापरमंदिरश्रद्धालुओंभराहोताहै।मांकादर्शनमात्रसेभक्तोंकेकष्टोंकाहरणहोताहै।माताकेदरबारसेकोईखालीहाथनहीलौटते।

-मनोजकुमारमिश्रा

ग्रामरक्षकदेवीकीरूपमेंपूजितचतुर्भुजीमातादुर्गाकीआराधनासेआध्यात्मिकउन्नतिहोतीहैं।शारदीयनवरात्रपरमंदिरकेमनोरममाहौलमेंभक्तिकीगंगाबहतीहैं।भक्तोंकीमनोकामनाएंमातापूर्णकरतीहैं।

-गिरींद्रचौधरी

By Dale