शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,छहअक्टूबर(भाषा)प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेमंगलवारकोकहाकिभारतकीविकासजरूरतेंतोसर्वोपरिहैहींलेकिनवन्यजीवएवंजैवविविधताभीउतनीहीजरूरीहै।मोदीनेवर्तमानवन्यजीवसप्ताहकेमौकेपरदेशकेनामअपनेसंदेशमेंकहा,‘‘वन्यजीवसंरक्षणहमारेनैतिकमूल्योंमेंसमाहितहैऔरवहसदैवहमारीपरंपराएवंसंस्कृतिकाअभिन्नहिस्सारहाहै।हमारेपावनसंविधानमेंभीवनोंएवंवन्यजीवोंकेसंरक्षणकोहरभारतीयकेमौलिकदायित्वोंकेरूपमेंशामिलकरतेहुएइसदर्शनकोजगहदीगयीहै।’’उन्होंनेकहा,‘‘भारतमेंविश्वकी17फीसदजनसंख्यारहतीहैऔरयहांदुनियाका2.4फीसदभूक्षेत्रहै।देशकेविकासकीजरूरतेंसर्वोपरितोहैंहीलेकिनवन्यजीवएवंजैवविविधताभीउतनीहीजरूरीहै।’’उन्होंनेकहाकिसंरक्षितक्षेत्रोंकेमजबूतएवंव्यापकनेटवर्ककेसाथभारतकीवन्यजीवसंरक्षणकेप्रतिप्रतिबद्धताहमेशाकीतरहदृढहै।मोदीनेकहा,‘‘पारिस्थितिकीरूपसेसंवदेनशीलक्षेत्रहमारेराष्ट्रीयउद्यानोंएवंअभयारण्योंकेचारोंओरसेसहयोगप्रदानकरतेहैंऔरवेबफरकेरूपमेंकामकरतेहै।इसदशामेंलंबीछलांगलगातेहुएकईऐसेक्षेत्रवन्यजीवोंकोफलने-फूलनेकेवास्तेउपलब्धजगहमेंवृद्धिकेलिएअधिसूचितकियेगयेहैं।’’उन्होंनेकहाकिभारतविविधप्रकारकेप्रवासीपंछियोंकेलिएप्राकृतिकआवासहैऔरइसीवजहसेइससालफरवरीमें13वेंप्रवासीप्रजातिसंधिपक्षसम्मेलनमेंअंगीकारकियेगयेगांधीनगरघोषणापत्रमें‘2020केबादकीवैश्विकजैवविविधताकेप्रारूपमें’पारिस्थितिकीकनेक्टिविटीकीअवधारणाकेसमेकनपरबलदियागयाहै।उन्होंनेइससंबंधमेंएशियाटिकशेरऔरबाघकाजिक्रकिया।प्रधानमंत्रीनेयहभीकहा,‘‘हमजैवविविधताकोसमृद्धबनानेकेसाथसाथटिकाऊविकासकेलिएएकलउपयोगवालेप्लास्टिकऔरमाइक्रोप्लास्टिकप्रदूषणघटानेकेअपनेप्रयासोंकेप्रतिकृतसंकल्पहैं।’’

By Connor