शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली,एएनआइ।प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदीनेआजउत्तरप्रदेशकेबलरामपुरमेंसरयूनहरराष्ट्रीयपरियोजनाकाशुभारंभकिया।इसकार्यक्रमकेलिएकाफीसंख्यामेंलोगइकट्ठाहुएहैं।इसदौरानउत्तरप्रदेशकेमुख्यमंत्रीयोगीआदित्यनाथभीमौजूदरहे। इससमारोहमेंकाफीसंख्यामेंलोगइकट्टाहुए।

बलरामपुरसेपीएममोदीकासंबोधन

-बलरामपुरसेपीएममोदीनेकहाकिजबभीहमअयोध्यामेंराममंदिरकीबातकरेंगे,बलरामपुररियासत(पूर्ववर्ती)केमहाराजापटेश्वरीप्रसादसिंहसाहबकेयोगदानकाउल्लेखकियाजाएगा।साथहीपीएमनेकहाकिबलरामपुरकेलोगपारखीहैं,उन्होंनेनानाजीदेशमुखऔरअटलबिहारीवाजपेयीकेरूपमें2भारतरत्नदिएहैं।

- इसकेसाथहीपीएमनेकहा,'मैं8दिसंबरकोहेलीकॉप्टरदुर्घटनामेंमारेगएसभीवीरयोद्धाओंकेप्रतिअपनीसंवेदनाव्यक्तकरताहूं।भारतकेपहलेसीडीएसजनरलबिपिनरावतकानिधन,प्रत्येकदेशभक्तकेलिएएकक्षतिहै।वहबहादुरथेऔरउन्होंनेदेशकेसशस्त्रबलोंकोआत्मनिर्भरबनानेकेलिएकड़ीमेहनतकी,देशइसकागवाहहै।

-पीएमनेकहाकिएकसैनिककेवलतबतकसैनिकनहींरहताजबतकवहसेनामेंरहताहै।उनकापूराजीवनएकयोद्धाकाहै।वहहरपलअनुशासनऔरदेशकेगौरवकेलिएसमर्पितहैं।इसकेसाथहीप्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेकहाकिजनरलबिपिनरावतजहांभीहोंगे,आनेवालेदिनोंमेंवेभारतकोनएसंकल्पोंकेसाथआगेबढ़तेदेखेंगे।

- प्रधानमंत्रीनेकहा,'ग्रुपकैप्टनवरुणसिंहकीजानबचानेकेलिएडॉक्टरजी-तोड़मेहनतकररहेहैं।मैंमांपटेश्वरीसेउनकीजानबचानेकीप्रार्थनाकरताहूं।राष्ट्रउनकेपरिवारकेसाथखड़ाहै।देशभीउनवीरजवानोंकेपरिवारोंकेसाथखड़ाहै।

गोरखपुरमेंसातदिसंबरकोदेशकोबड़ाखादकाकारखानावएम्सगोरखपुरसमर्पितकरनेकेचारदिनबादपीएममोदीपांचनदियोंतथानौजनपदोंकोजोड़नेवालीइसराष्ट्रीयपरियोजनाकाशुभांरभकियाजिसकाकाम1971मेंकियागयाथा,लेकिनइसकोअंजामतकलानेकाकामउत्तरप्रदेशकीयोगीआदित्यनाथसरकारनेकियाहै।

बतादेंकियूपीकेबहराइच,श्रावस्तीऔरबलरामपुरसेहोकरगोरखपुरतकजानेवाली318किलोमीटरलम्बीऔरकरीब9,800करोड़रुपएकीलागतवालीसरयूनहरराष्ट्रीयपरियोजनासे29लाखकेकरीबकिसानोंकोफायदाहोगा।प्रधानमंत्रीकार्यालय(PMO)नेयहजानकारीदीथी।

इसपरियोजनासे14लाखहेक्टेयरसेअधिकभूमिकीसिंचाईकेलिएसुनिश्चितपानीमिलेगा।जिससेपूर्वीउत्तरप्रदेशके6200सेअधिकगांवोंकेलगभग29लाखकिसानलाभान्वितहोंगे।इससेकिसानअबक्षेत्रकीकृषिक्षमताकोभीबढ़ानेमेंसक्षमहोंगे।पीएममोदीनेभगीरथबनकरपूर्वांचलकेनौजिलोंके30लाखकिसानोंकेखेतोंतकपानीपहुंचायाहै।

सरयूनहरराष्ट्रीयपरियोजनाकीकुललागत9800करोड़रुपएहै,जिसमेंसेपिछलेचारवर्षमें4600करोड़रुपयेसेअधिककाप्रावधानकियागया।इसपरियोजनामेंक्षेत्रकेजलसंसाधनोंकाउपयोगसुनिश्चितकरनेकेलिएपांचनदियोंघाघरा,सरयू,राप्ती,बाणगंगाऔररोहिणीकोआपसमेंजोड़ागयाहै।इससेपूर्वीउत्तरप्रदेशकेनौजिलेबहराइच,श्रावस्ती,बलरामपुर,गोंडा,सिद्धार्थनगर,बस्ती,संतकबीरनगर,गोरखपुरऔरमहाराजगंजकेकिसानलाभान्वितहोंगे।इसपरियोजनाकेविलंबितहोनेसेसर्वाधिकपीड़ितकिसानोंकोबड़ालाभमिलेगा।उन्नतसिंचाईक्षमतासेअत्यधिकलाभान्वितहोंगे।इसकेसाथअबबड़ेपैमानेपरफसलउगानेऔरक्षेत्रकीकृषिक्षमताकोअधिकतमकरनेमेंसक्षमहोंगे।

By Cooper