शारीरिक शिक्षा

कानपुर,जेएनएन।कानपुरमठमंदिरसमितिउनमंदिरोंमेंपूजनअर्चनकराएगीजहां किसीआचार्यद्वारापूजननहींहोताहैसिर्फआमजनताहीआकरपूजनकरतीहै।पुजारीनहींहोनेसेशामकोपटभीसमयसेबंदनहींहोतेऔरआरतीभीनहींहोपातीहैं।समितिनेऐसेमंदिरोंकासर्वेकरनेकानिर्णयलियागयाहै।जबउनकीसूचीबनजाएगीतोवहांपासकेहीकिसीआचार्ययामंदिरकेपड़ोसमेंरहनेवालेकिसीव्यक्तिकोसमय-समयपरआरतीकीजिम्मेदारीदीजाएगी।भोगआरती,मंगलाआरती,शयनआरतीसमयसेहोगीऔरभक्तइसमेंशामिलहोसकेंगे।समयसेपटबंदहोंगेऔरसमयसेखुलेंगे।समितिपूजनकेलिएभीपूजनसामग्रीशंख,घंटाघंटीआदिउपलब्धकराएगीऔरवहांकेलोगोंकोआरतीकरनेकेलिएप्रशिक्षितभीकियाजाएगा।जिलेमें8000सेअधिकछोटे-बड़ेमंदिरहैं।

मंदिरोंकेसर्वेकीप्रक्रियाशुरूकरदीगईहै।मीडियाप्रभारीसंतमिश्रा,संरक्षकशेषनारायणत्रिवेदीनेबतायाकि2माहकेअंदरसर्वेकाकार्यपूराकरलियाजाएगा।इससेलोगोंकीधर्मकेप्रतिआस्थाभीबढ़ेगी।जरूरतपड़नेपरमंदिरोंकेसुंदरीकरणकाकार्यकियाजाएगा।रंगाई,पुताई,फुलवारीकीव्यवस्थाभीकीजाएगीताकिप्रभुकोसमयसेपुष्पअर्पितहोसकेऐसेमंदिरजहांफूलोंकेपौधेनहींलगाएजासकतेहैं,गमलेरखनेकीव्यवस्थानहींहैवहांमालियोंसेफूलबनानेकीव्यवस्थाकीजाएगी।

दाेदिनपहलेहीकानपुरमठमंदिरसमितिकागठनकियागयाथा।समितिमेंपनकीहनुमानमंदिरकेमहंतश्रीकृष्णदास,श्रीहनुमतकृपाआश्रमकेमहंतबालयोगीअरुणपुरीचैतन्य,महामंडलेश्वरस्वामीविनयस्वरूपानंदसरस्वती,उडितनन्दब्रह्मचारीसमेतकईमठमंदिरोंकेमहंतशामिलहै।

By Cooke