शारीरिक शिक्षा

सिद्धार्थनगर:पिछलेडेढ़दशकमेंराप्तीनदीनेऐसाउत्पातमचायाकितटपरबसेमल्लाहजातिकेलोगोंकाबघनीघाटगांवआधाविस्थापितहोगया।अनेकबारजिम्मेदारोंसेकहनेकेबादभीकोईइनकीसुननेवालानहींहै।जबकिअबभीकईघरइसकेनिशानेपरहैं।बंधेकेपाररहरहेलोगोंकेमनमेंपुश्तैनीघरछूटनेकाअभीभीमलालहै।जबकिअनेकगरीब,भूमिहीनवलाचारलोगजोअन्यत्रआशियानानहींबनासकतेवहींभयकेसायेमेंजीनेकोमजबूरहैं।

मिठवलविकासखंडमेंस्थिततटीयगांवबघिनीनानकारकेउत्तरसेराप्तीप्रवाहितहै।पहलेसरजूकीवामांगीमानीजानेवालीयहपुण्यसलिलाउत्तरबढ़तीहुईबहरहीथी।लेकिनडेढ़-दोदशकपूर्वअचानककरवटबदलतेहुएदक्षिणकीओरबढ़करबहनेलगी,तभीसेगांवइसकेजदमेंआगयाहै।ग्रामीणोंनेबतायाकिअबतकलगभगदोदर्जनसेअधिकघरइसकेचपेटमेंआचुकेहैं।कईलोगतोभयकेकारणएहतियातनबंधेकेपारघरबनाचुकेहैं।

इन्होंनेगांवछोड़बंधेकेपारबनाचुकेआशियाना

अबतकगांवकेपूर्णमासी,यज्ञी,हरीलाल,पाटन,इंद्रजीत,राधेराधेचौरसिया,प्रहलादकनौजिया,कपिलचौरसिया,राजकुमारकनौजिया,ठुमरीगुप्ता,खेलावनगुप्ता,पिगल,सुभग,भानू,चिक्कू,रामलाल,रामअजोरवराममिलनआदितटबंधकेदक्षिणअपनानिवासबनाचुकेहैं।

खेतवआमकेबागभीनदीमेंहुएसमाहित

गांवकेछोटेसाहनी,सोहबाती,बलराम,रमेशकनौजिया,नरेशकनौजियावपीतांबरआदिकाकृषिभूमिविकासतटपरस्थितबागभीनदीमेंसमाहितहोगयाहै।

पूर्वप्रधानराकेशकुमारनेबतायाकिबरसातभरहमारेगांवकेलोगडरेसहमेरहतेहैं।गांवकेकिनारेठोकरबनजायतोसमस्यादूरहोजायेगी।गांवकेयुवककीर्तिकुमारनेकहाकिहमकरेंतोकरेंक्या?परिस्थितियोंसेजूझनाहीहमारीनियतिहै।बुजुर्गसुरेन्द्रयादवनेकहाकिबाबूहमअनपढ़लोगहैं,हमारीसुनताहीकौनहै।विक्रममल्लाहनेबतायाकिइसबरसातकोसोचकरअभीसेमनडररहाहै,कोईतारणहारतोआएंऔरहमेंभीबचाएं।ज्वाइंटमजिस्ट्रेटबांसीजगप्रवेशनेकहाकिहमेंइसगांवकेविषयमेंऐसीकोईजानकारीअभीतकनहींथी।यदिऐसाहैतोमैंनिरीक्षणकरलेताहूं।सुरक्षाकेदृष्टिगतक्याहोसकताहैदेखतेहैं।