शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,11सितंबर(भाषा)प्रधानमंत्रीनरेंद्रमोदीनेशुक्रवारकोकहाकि2022मेंदेशजबआजादीका75वांसालमनाएगा,छात्रराष्ट्रीयशिक्षानीतिकेनएपाठ्यक्रमकेतहतपढ़ाईकरेंगे।प्रधानमंत्रीनेराष्ट्रीयशिक्षानीति-2020केतहत‘21वींसदीमेंस्कूलीशिक्षा’विषयपरएकसम्मेलनकोसंबोधितकरतेहुएबच्चोंकोकमसेकमपांचवींकक्षातकमातृभाषायास्थानीयभाषामेंपढ़ानेकीजरूरतपरजोरदिया।हालांकि,उन्होंनेकहाकिनईशिक्षानीतिमेंकिसीभीभाषाकेसीखनेपररोकनहींहैऔरबच्चेअंग्रेजीयाकिसीभीअंतरराष्ट्रीयभाषाकीपढ़ाईकरसकतेहैं।उन्होंनेकहाकिइसपरकिसीकोभीआपत्तिनहींहै।साथहीकहाकिभारतीयभाषाओंकोबढ़ावादियाजानाचाहिए।नयीशिक्षानीतिकोलेकरगैरभाजपाशासितकुछराज्योंकीआलोचनाओंकेबीचउन्होंनेयहटिप्पणीकीहै।कुछविपक्षीदलोंनेआरोपलगायाहैकिसत्तारूढ़भाजपाहिंदीकोबढ़ावादेनेपरकामकररहीहैजबकिसरकारनेइनआरोपोंकोखारिजकियाहै।प्रधानमंत्रीनेकहाहैकिनईराष्ट्रीयशिक्षानीतिनएभारतकी,नईउम्मीदोंकी,नईआवश्यकताओंकीपूर्तिकामाध्यमहैऔरराष्ट्रीयशिक्षानीतिकीइसयात्राकेपथ-प्रदर्शकदेशकेशिक्षकहैं।उन्होंनेकहाकिअबतकहमारेदेशमेंअंकतथाअंकपत्रआधारितशिक्षाव्यवस्थाहावीथी,लेकिनअबहमेंशिक्षामेंआसानऔरनए-नएतौर-तरीकोंकोबढ़ानाहोगा।उन्होंनेकहाकिनईशिक्षानीतिसेनएयुगकेनिर्माणकेबीजपड़ेहैंऔरयह21वींसदीकेभारतकोनईदिशाप्रदानकरेगी।प्रधानमंत्रीनेकहाकिराष्ट्रीयशिक्षानीति(एनईपी)काऐलानहोनेकेबादबहुतसेलोगोंकेमनमेंकईसवालआरहेहैं।मसलन,येशिक्षानीतिक्याहै?येकैसेअलगहै,इससेस्कूलऔरकॉलेजोंमेंक्याबदलावआएगा।उन्होंनेकहाकिकुछदिनपहलेशिक्षामंत्रालयने‘माएगोव’पोर्टलपरराष्ट्रीयशिक्षानीतिकोलागूकरनेकेबारेमेंदेशभरकेशिक्षकोंसेउनकेसुझावमांगेथेजिसमेंएकसप्ताहकेभीतरही15लाखसेज्यादासुझावमिलेहैं।उन्होंनेशिक्षकों,अभिभावकों,राज्योंऔरगैरसरकारीसंगठनोंकासंदर्भदेतेहुएकहा,‘‘जबदेशअपनीआजादीका75वांसालमनारहाहोगाहरछात्रनयीशिक्षानीतिद्वारातैयारदिशा-निर्देशकेतहतपढ़ाईकरेगा।यहहमारीसामूहिकजिम्मेदारीहै।’’उन्होंनेकहाकिएनईपीमेंबच्चोंपरध्यानकेंद्रितकियागयाहै,इसमेंअन्वेषण,गतिविधियोंऔरमनोरंजकतरीकोंसेसीखनेपरजोरदियागयाहै।मोदीनेकहाकिपिछलेतीनदशकोंमेंदुनियाकाहरक्षेत्रबदलगया,हरव्यवस्थाबदलगई।इनतीनदशकोंमेंहमारेजीवनकाशायदहीकोईपक्षहोजोपहलेजैसाहो।लेकिनवोमार्ग,जिसपरचलतेहुएसमाजभविष्यकीतरफबढ़ताहै,हमारीशिक्षाव्यवस्था,वोअबभीपुरानेढर्रेपरहीचलरहीथी।उन्होंनेकहाकिराष्ट्रीयशिक्षानीतिकोलागूकरनेकेअभियानमेंप्राचार्य,शिक्षकपूरेउत्साहसेहिस्सालेरहेहैं।उन्होंनेकहा,‘‘यहफैसलाकियागयाकिजबहम2022मेंअपनीआजादीके75सालपूराकरेंगे,छात्रनएपाठ्यक्रमकेसाथनएभविष्यकीओरकदमबढ़ाएंगे।’’प्रधानमंत्रीनेशिक्षाकोछात्रोंकेजीवनसेजोड़नेकीवकालतकीऔरकहाकिबच्चोंकेलिएनएदौरकेअध्ययनकामूलमंत्रहोनाचाहिए-भागीदारी,खोज,अनुभव,अभिव्यक्तितथाउत्कृष्टता।

By Cook