शारीरिक शिक्षा

नईदिल्लीलद्दाखमेंचीनसेजारीतनावकेबीचभारतअपनेपड़ोसीदेशोंकेसाथसंबंधकोमजबूतबनानेकेलिएकामकररहाहै।इसकेलिएभारतअपनेपड़ोसीदेशोंमेंनिवेशपरभीजोरदेरहाहै।हालमेंहीभारतनेमालदीवकोमहत्वपूर्णसंपर्कपरियोजनाकेलिए50करोड़डॉलरकीमदददेनेकाऐलानकियाहै।वहीं,श्रीलंकाकेविदेशसचिवजयनाथकोलंबेजनेकहाथाकिश्रीलंकाअपनीविदेशनीतिमेंपहलेभारतदृष्टिकोणकोअपनाएगा।भारतकीसमृद्धिक्षेत्रकोआगेबढ़ानेवालीताकतबनेगीइसबीचसोमवारकोअमेरिका-भारतरणनीतिकसाझेदारीमंचपरबातचीतकेदौरानविदेशमंत्रीएसजयशंकरनेकहाकिभारतकाफीज्यादाक्षेत्रीयनिवेशकररहाहैलेकिनइसेऔरबढ़ाएजानेकीजरूरतहै।उन्होंनेयहभीकहाकिभारतकीसमृद्धिपूरेक्षेत्रकोऊपरउठानेवालीताकतबननीचाहिए।उन्होंनेपड़ोसीदेशोंकेसाथबेहतरपरिवहनव्यवस्थापरभीजोरदिया।पैंगोंगमेंभारतकीजवाबीएक्शनसेबौखलायाचीन,बॉर्डरसेसेनाहटानेकीमांगकीभारतकेआत्मनिर्भरबननेकेप्रयासोंपरजोरजयशंकरनेआर्थिकविकासबढ़ानेकेसाथ-साथपूरेक्षेत्रकोसमृद्धबनानेकेलिएआत्मनिर्भरबननेकेभारतकेप्रयासोंपरजोरदिया।उन्होंनेकहाकिभारतकीसमृद्धिपूरेक्षेत्रकोऊपरउठानेवालीताकतबननीचाहिए।देशकोपड़ोसमेंनिवेशकरनेऔरज्यादासंपर्कपरियोजनाएंचलानेकीजरुरतहै।साथहीउन्होंनेकहाकिहमवाकईयहसबकुछकररहेहैं।मालदीवसेचीनकोभगानेकीतैयारीमेंभारत,करेगा50करोड़डॉलरकानिवेशपड़ोसीदेशोंकोबिजलीऔरईंधनसप्लाईकररहाभारतजयशंकरनेबतायाकिभारतपिछलेपांचसालसेज्यादातरपड़ोसीदेशोंकेलिएबिजलीआपूर्तिकर्ताबनगयाहै,कईदेशोंकोईंधनभीमुहैयाकराताहै।उन्होंनेबतायाकिभारतक्षेत्रमेंजलमार्ग,बंदरगाहों,रेलवेनेटवर्कऔरअन्यपरियोजनाओंसेजुड़ाहुआहै।