शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली,पीटीआइ।सुप्रीमकोर्टनेउत्तरप्रदेशस्थितधामपुरशुगरमिल्सलिमिटेडकीचारइकाइयोंपर20करोड़रुपयेकाजुर्मानालगानेकेराष्ट्रीयहरितन्यायाधिकरण(एनजीटी)केआदेशपररोकलगादीहै।एनजीटीनेपर्यावरणनियमोंकेलगातारउल्लंघनकोलेकरयहजुर्मानालगायाथा।जस्टिसइंदिराबनर्जीऔरजेकेमाहेश्वरीकीपीठनेधामपुरचीनीमिलकीअपीलपरकेंद्रीयप्रदूषणनियंत्रणबोर्ड(सीपीसीबी),केंद्रीयभूमिजलप्राधिकरण(सीजीडब्ल्यूए),उत्तरप्रदेशप्रदूषणनियंत्रणबोर्ड(यूपीपीसीबी)औरअन्यकोनोटिसजारीकियाहै।

पीठनेकहा,'नोटिसजारीकीजिए,जिसकाजवाबछहसप्ताहमेंदियाजाए।इसबीच,प्रत्येकइकाईपरपांच-पांचकरोड़रुपयेकेजुर्मानेकेभुगतानतथाप्रतिवादीसंख्याएकसेतीनतक(धामपुरशुगरमिल्सलिमिटेड)द्वारादिएजानेवाले10लाखरुपयेकेशुल्कसंबंधीआदेशपरस्थगनरहेगा।'

शीर्षअदालतनेअपनेआदेशमेंयहभीकहाकिनुकसानकेआकलनकेलिएएनजीटीकीओरसेगठितकीगईसमितिछहसप्ताहकीअवधितककोईऔरकदमनहींउठाएगी।कंपनीनेएनजीटीकेआदेशकेखिलाफसुप्रीमकोर्टमेंअपीलदायरकीथी।

एनजीटीनेसीपीसीबीऔरयूपीपीसीबीद्वारादाखिलविभिन्ननिरीक्षणरिपोर्टोकाअध्ययनकरनेकेबादकहाथाकिपर्यावरणकोलंबेसमयतकनुकसानपहुंचाहै।एनजीटीनेधामपुरशुगरमिल्सकीजिलासंभलस्थितधामपुरशुगरमिल्स,जिलाबिजनौरस्थितधामपुरशुगरमिल्सऔरजिलाबिजनौरस्थितधामपुरडिस्टिलरीयूनिटकेसाथहीधामपुरशुगरमिल्स,मीरगंज,जिलाबरेलीपरपांच-पांचकरोड़रुपयेकाजुर्मानालगायाथा।

इसनेनिर्देशदियाथाकिजुर्मानेकाभुगतानएकसितंबर,2021से30दिनकेभीतरकियाजानाचाहिए।एनजीटीनेपर्यावरणकोपहुंचेनुकसानकाविस्तृतअध्ययनकरनेकेलिएसीपीसीबी,यूपीपीसीबीऔरसंबंधितजिलाधिकारियोंकीएकसमितिभीगठितकीथी।