शारीरिक शिक्षा

रांची,राज्यब्यूरो।सरकारीस्कूलोंकेखुलनेकेबादबच्चोंकोकोरोनासंक्रमणसेबचानेकेलिएराज्यसरकारनेएकमानकसंचालनप्रक्रिया(एसओपी)काई-मॉड्यूलतैयारकियाहै।बुधवारकोस्कूलीशिक्षाएवंसाक्षरताविभागद्वाराआयोजितएकवेबिनारकेदौरानविभागकेसचिवराहुलशर्मा,झारखंडशिक्षापरियोजनाकेनिदेशकउमाशंकरसिंहआदिनेइसकीऑनलाइनलांचिंगकी।झारखंडशिक्षापरियोजनापरिषदनेइसेयूनिसेफकेसहयोगसेतैयारकियाहै।

वेबिनारकोसंबोधितकरतेहुएशिक्षासचिवनेकहाकिस्कूलोंकोसैनिटाइजकरनेकेअलावाबच्चोंकोसंक्रमणसेबचानेलिएस्कूलोंकोभारीसंख्यामेंथर्मलगन,मास्कवअन्यसंसाधनोंकीजरूरतहोगी।उन्होंनेकाॅरपोरेटक्षेत्रोंसेसीएसआरकेतहतस्कूलोंमेंऐसेसंसाधनोंकोउपलब्धकरानेकीअपीलभीकी।सचिवनेकहाकिबच्चोंकोइसएसओपीकेमाध्यमसेकोरोनाबचावकोलेकरजागरूककरहमएककरोड़लोगोंकोजागरूककरसकतेहैं।

वहीं,राज्यपरियोजनानिदेशकनेवेबिनारकोसंबोधितकरतेहुएकहाकिस्कूलोंकेखुलनेपरकोरोनासेबचावएकचुनौतीहोगी।सभीशिक्षकोंकेलिएअनिवार्यहोनाचाहिएकिवेई-लर्निंगमॉड्यूलकेमाध्यमसेकोरोनासेबचावकेबारेमेंप्रशिक्षणप्राप्तकरइसकाप्रमाणपत्रप्राप्तकरें।वहीं,राष्ट्रीयग्रामीणस्वास्थ्यअभियान,झारखंडकेनिदेशकडा.शैलेशचौरसियानेकहाकिकोरोनासेबचावकोलेकरशहरीक्षेत्रोंसेअधिकजागरुकताग्रामीणक्षेत्रोंमेंहै।

वेबिनारमेंयूनिसेफकीभारतप्रतिनिधिडॉ.यास्मीनअलीहकनेयहजानकरप्रसन्नताजाहिरकीकिझारखंडके22,000सेअधिकशिक्षकोंनेपहलेहीई-मॉड्यूलकेमाध्यमसेकोरोनासेबचावकोलेकरऑनलाइनप्रशिक्षणप्राप्तकरलियाहै।उन्होंनेझारखंडमेंमाहवारीस्वच्छताप्रबंधनकेलिएएकविशेषकार्यक्रमतैयारकरनेकाभीसुझावदिया।रोटरीइंटरनेशल,बिहार-झारखंडकेरंजनगनदोत्रानेस्कूलोंमेंहैंडवाशिंगस्टेशनस्थापितकरनेमेंआर्थिकसहयोगदेनेकीबातकही।वेबिनारमेंयूनिसेफझारखंडकेचीफप्रशांतदास,सीसीएलकेसीएमडीगोपालसिंहआदिनेभीअपनेविचाररखे।

एसओपीमेंक्या-क्या

By Craig