शारीरिक शिक्षा

नईदिल्ली,अनुरागमिश्र/पीयूषअग्रवाल।दुनियाकेबड़ेदेशोंमेंअक्षयऊर्जाकेस्रोतोंकोलेकरकाफीकामहुएहैं।प्रदूषणकीखतरनाकस्थितिकोदूरकरनेकेलिएयेप्रयासकाफीकारगरमानेजातेहैं।जर्मनी,ब्रिटेनऔरआस्ट्रेलियामेंपवनऔरसौरऊर्जामेंखासीबढ़ोतरीदर्जकीगईहै।पवनऔरसौरऊर्जाउत्पादनमेंवृद्धिवैश्विककोयलाउत्पादनमेंहोरहीलगातारकमीकेसाथमेलखातीहै।दुनियाभरकेदेशविशेषरूपसेजीवाश्मईंधनसेदूरीबनारहेहैं।

2020कीपहलीछमाहीमेंपवनऔरसौरऊर्जासेबिजलीउत्पादनकीहिस्सेदारी10फीसदीदर्जकीगईहै।यहजानकारीजलवायुपरिवर्तनपरकामकररहेथिंकटैंकएजेंसीएम्बरकीरिपोर्टमेंसामनेआईहै।भारतभीअपनी10फीसदीऊर्जाकाउत्पादनविंडऔरसोलरकीमददसेकररहाहै,जबकिअमेरिका12फीसदी,चीन,जापानऔरब्राजील10फीसदीएवंतुर्की13फीसदीबिजलीकाउत्पादनपवनऔरसौरऊर्जासेकररहाहै,वहींयूरोपीययूनियन21फीसदीऔरयूनाइटेडकिंगडम33फीसदीपवनऔरसौरऊर्जाकीमददसेउत्पादितकररहाहै।भारतमेंआयायहबदलावकाफीअहमहै।आंकड़ेबतातेहैंकिभारतमेंपवनऔरसौरऊर्जासेबिजलीउत्पादन2015मेंजहांतीनप्रतिशतथा,जो2020मेंबढ़करदसफीसदीहोगया।

पेरिसक्लाइमेटचेंजसंधिके2015मेंहस्ताक्षरहोनेकेबादकईदेशोंनेजहांसौरऔरपवनऊर्जासेबिजलीउत्पादनकेशेयरकोदोगुनाकिया,वहींभारतनेतीनगुनाकियाहै।चीन,जापानऔरब्राजीलका2015मेंशेयरचारफीसदीसेबढ़करदसफीसदीहोगया,जबकिअमेरिकाका6फीसदीसेबढ़कर12फीसदीहोगया।वहीं,भारतका2015मेंसौरऔरपवनऊर्जासेबिजलीउत्पादनकाशेयर3.4प्रतिशतथा,जोअब10होगयाहै।रिपोर्टमेंकहागयाहैकिभारतसमेतएशियनदेशोंमेंकोयलेकाउत्पादननहींबढ़रहाहै।वहींकोयलाउत्पादनकाशेयर77फीसदीसेघटकर68फीसदीहोगया।

वैज्ञानिकोंनेपहलेभीचेतायाहैकियदिदुनियाभरमेंतेजीसेबढ़रहेउत्सर्जनमेंकमीनहींकीगईतोउसकेविनाशकारीपरिणामझेलनेपड़सकतेहैं।पहलेहीबाढ़,सूखा,तूफान,मानसूनमेंआरहेबदलावजैसीआपदाएंकाफीबढ़चुकीहैं,साथहीउनकास्वरूपभीऔरविनाशकारीहोताजारहाहै।

By Cooper