शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,अंबाला:बाजेरेबाजेरे,डम-डमढोलबाजेरे..वरामजीचालदेखो,रंगोंमेंउबालदेखो,ओदेखोततड़-ततड़..आदिगीतोंपरछात्रोंनेफैंसीपोशाकोंमेंशानदारप्रस्तुतिदेकरसमांबांधदिया।दोपहरतकछात्रोंनेएककेबादएकगानेपरप्रस्तुतिदी।यहमौकाथाशुक्रवारछावनीकेरॉबर्टपैवेलियनमैदानमेंकान्वेंटऑफसेक्रेडहार्टस्कूलकीओरसेआयोजितवार्षिकोत्सवका।कार्यक्रममेंमशहूरनृत्यांगनाशबनमनाथनेबतौरमुख्यातिथिकेरूपमेंशामिलहोकरछात्रोंकोप्रोत्साहितकिया।उन्होंनेकहाकिइसतरहकेकार्यक्रमोंमेंप्रस्तुतिदेनेसेछात्रोंकाउत्साहबढ़ताहैऔरवहअपनेअंदरछुपीप्रतिभाकोउजागरकरउसेनिखारतेहैं।वार्षिकोत्सवकेमौकेपरमैदानकोआकर्षकअंदाजमेंसजायागयाथा।पहलीकक्षाकेछात्रोंनेगोवाकाप्रसिद्धनृत्यपारंपरिकवेशभूषाकेसाथप्रस्तुतिदीऔरदूसरीकक्षाकेछात्रोंनेभारतकीसुंदरताकोबढ़ानेवालेकश्मीरीनृत्यपेशकरखूबतालियांबटोरी।उधर,तीसरीकक्षाकेछात्रोंनेराजस्थानकामशहूरकठपुतलीनृत्यतोचौथीकक्षाकेगरबानृत्यप्रस्तुतकिया।प्रिसिपलपूनमटंडननेबतायाकिपांचवींकक्षाद्वारापश्चिमबंगालकेमशहूरत्योहारदुर्गापूजाकोनृत्यकेमाध्यमसेमंचपरदर्शाया।इसकेअलावाकार्यक्रममेंसातवींकक्षाद्वाराहरियाणवीनृत्य,आठवींकक्षाद्वरानागालैंडकामशहूरनृत्य,नौवींऔरदसवींकेविद्यार्थियोंनेपंजाबीसंस्कृतिकोदर्शातेहुएभंगड़ापेशकिया।

By Daniels