शारीरिक शिक्षा

राजेशभादू,फतेहाबाद

कितनीअजीबविडंबनाहैकिआमजनसेसुविधाकेनामपररुपयेतोपहलेवसूललिएजातेहैं,लेकिनउसकेबदलेसुविधानहींदीजाती।ऐसालघुसचिवालयमेंबैठनेवालेउच्चअधिकारीकररहेहैं।अधिकारियोंकेखिलाफकहांशिकायतकरें,करभीदेंतोसुनवाईनहींहोगी।दरअसल,वाहनचालकअपनालर्निगड्राइविगलाइसेंसउपमंडलअधिकारीकीदेखरेखमेंबनातेहैंतोआवेदनकेदौरानलाइसेंसकीफीसकेसाथउनसेडाककीरजिस्ट्रीफीसभीलीजातीहै।उसदौरानदावाकियाजाताहैकिआवेदककालाइसेंसअपनेआपउसकेघरपहुंचजाएगा।उसेफिरसेलघुसचिवालयमेंआनेकीजरूरतहीनहींपड़ेगी।लेकिनपिछलेएकमहीनेसेरुपयेलेनेकेबादभीडाकविभागकेमार्फतउनकेघरड्राइविगलाइसेंसनहींपहुंचरहे।

डाकविभागकेअधिकारियोंकाकहनाहैकिपिछलेएकमहीनेसेएसडीएमकार्यालयसेआनेवालेड्राइविगलाइसेंसडाकघरोंमेंनहींलिएजारहे।इसकीवजहहैकिअकेलेफतेहाबादजिलेकेकरीब17लाखरुपयेबकायाहैं,वहींऑलओवरसाढ़ेतीनकरोड़रुपयेप्रदेशसरकारपरडाकविभागकेबकायाहै।येरुपयेजबप्रदेशसरकारडाकविभागकोदेगी,उसकेबादहीडाककेमार्फतड्राइविगलाइसेंसभेजेजाएंगे।

अनुबंधकेअनुसारडाकविभागभेजताथाडाक:

डाकविभागकीहालतसुधारनेवआमजनकोबेहतरीनसुविधादेनेकेलिएदोनोंकेबीचकरीबपांचचारपहलेअनुबंधहुआथा।जिसकेअनुसारडाकविभागकोड्राइविगलाइसेंसआवेदककेघरतकपहुंचाहोगा।इसकेलिएफीसनिर्धारितहुई।लेकिनगतवित्तवर्षकेसाथइसवित्तवर्षकेशुरूआतीचारमहीनोंमेंभेजीगईडाककेरुपयेनहींमिलेतोअबडाकविभागनेड्राइविगलाइसेंसएसडीएमकार्यालयसेलेनेबंदकरदिए।अकेलेफतेहाबादकार्यालयसेजुड़े100सेअधिकड्राइविगलाइसेंसएसडीएमकार्यालयमेंपड़ेहैं।

आवेदकोंकाआरोप,नतोडाकसेभेज,नहीसीधेदेरहे:

लर्नड्राइविगलाइसेंसबनानेवालेप्रदीप,कृष्णवमहेंद्रनेबतायाकिउनकेड्राइविगलाइसेंसबनेहुएएकमहीनेसेअधिकसमयहोगया।लेकिनएसडीएमकार्यालयफतेहाबादकेकर्मचारीनतोडाकसेउनकेलाइसेंसघरभेजरहेनहीउनकोबाइहेंडलाइसेंसदेरहेहैं।इससेउनकोपरेशानीआरहीहै।उन्होंनेमांगकिउनकीपरेशानीकोदूरकरनेकेलिएप्रयासकिएजाए।जबउनकेडाकफीसलेलीथी,उसकेबादलाइसेंसघरनहींपहुंचे।जोआवेदकलघुसचिवालयमेंआकरलाइसेंसलेनाचाहताहै।कमसेकमउसेतोलाइसेंसमिले।

--------------------------डाकविभागवहरियाणासरकारकेबीचकरीबचारसालपहलेएकसमझौताहुआथा।उसकेअनुसारडाकविभागकोड्राइविगलाइसेंसआवेदककेघरभेजनेथे।लेकिनगतवित्तवर्ष2019-20केसाथइसवित्तवर्षमेंबकायाराशिकाभुगताननहींहुआहै,जोकरीबसाढ़ेतीनकरोड़सेअधिकहै।ऐसेमेंअबपिछलेएकमहीनेसेसभीप्रकारकेड्राइविगलाइसेंसनहींभेजेजारहे।

-राममेहरयादव,मुख्यपोस्टमास्टर,फतेहाबाद।

येमामलामेरेसंज्ञानमेंनहींहै।वैसेकोईआवेदकएप्लीकेशनदेकरसीधेअपनाड्राइविगलाइसेंसलेसकताहै।आवेदकोंकोकिसीप्रकारकीपरेशानीनहींआनेदीजाएगी।

-कुलभूषणबंसल,एसडीएम,फतेहाबाद।

By Cooke