शारीरिक शिक्षा

प्रयागराजआरएसएसचीफमोहनभागवतनेसबरीमालामंदिरमेंप्रतिबंधितउम्रवर्गकीमहिलाओंकेप्रवेशकाजिक्रकरतेहुएकहाकिहिंदुओंकीभावनाओंकाख्यालनहींरखागया।उन्होंनेकहाकिकोर्टनेफैसलातोसुनादियालेकिनइससेकरोड़ोंहिंदुओंकीभावनाएंएवंसम्मानआहतहुआ,इसकाख्यालनहींरखागया।उन्होंनेकहाकिमहिलाएंमंदिरमेंप्रवेशनहींकरनाचाहतीहैंलेकिनश्रीलंकासेलाकरउनकोपिछलेदरवाजेसेप्रवेशकरायाजारहाहै।उन्होंनेकहाकिहिंदूधर्मकोठेसपहुंचानेकीसाजिशचलरहीहै।भागवतनेकहा,'कोर्टनेकहामहिलाअगरप्रवेशचाहतीहैतोकरनेदेनाचाहिए।अगरकिसीकोरोकाजाताहैतोउसकोसुरक्षादेकरजहांसेअबदर्शनकरतेहैंवहांसेलेजानाचाहिए।लेकिनकोईजानानहींचाहरहाहैइसलिएश्रीलंकासेलाकरइनकोपिछलेदरवाजेसेघुसायाजारहाहै।'भागवतनेधर्मसंसदमेंकहाकिभारततेरेटुकड़ेहोंगेइंशाअल्लाहबोलनेवालेसाथमिलकरहमारेसमाजमेंमहिला-पुरुषमेंभेदभावकीबातलोगोंकेदिमागमेंफैलनेकाकामकररहेहैं।यहकपटहै।राजनीतिकविवादकेकारणसमाजकोतोड़करवोटोंकीकटाईकरनेवालेलोगऐसाकररहेहैं।बिनानामलिएकेरलसरकारकोआड़ेहाथोंलेतेहुएभागवतनेकहा,'येऐसेसंगठनहैंजोदेशकोतोड़नेकीघोषणाकररहेहैं,संविधानकीअवहेलनाकरएकसंप्रदायकेप्रभुत्वकीघोषणाकररहेहैंऐसेसंगठन।केरलकाहिंदूसमाजइसेलेकरप्रखरआंदोलनकररहाहै।5लोगोंकाबलिदानहुआहै।हिंदूसमाजकोठेसपहुंचानेकेलिएनई-नईयोजनाएंबनरहीहैं।'भागवतनेकहाकिअयप्पाकेवलकेरलकेहिंदुओंकेभगवाननहींहैं।यहसभीहिंदुओंकेभगवानहैं।उन्होंनेकहा,'इसआंदोलनमेंपूराहिंदूसमाजशामिलहै।अयप्पाकेभक्तहिंदूसमाजकेसभीनागरिकहैं।संपूर्णदेशमेंहमेंवस्तुस्थितिबताकरलोगोंकोजागरूककरनाहोगा।हिंदुओंकेखिलाफषडयंत्रचलरहाहै।कहीं-कहींषडयंत्रचलजाताहै।उसकाकारणहमारीकमियांहैं।पंथ,भाषा,जात-पातकेनामपरकोईव्यक्तिहमेंअलगनहींकरसके।सामाजिकसमरसताकाकामशुरूहोनाचाहिए।