शारीरिक शिक्षा

दिल्लीमेंकोरोनासंकटजरूरबड़ाहै,लेकिनइसमुश्किलसमयमेंकईऐसीपहलदेखीगईहैंजिसवजहसेबड़ेस्तरपरलोगोंकीमददभीहोरहीहैऔरकोरोनाकीयेजंगआसानभीबनरहीहै.अबऐसीएकअनोखीपहलनॉर्थदिल्लीनगरनिगमनेशुरूकीहैजहांपरबसोंमेंभीलोगोंकोऑक्सीजनसेवादीजारहीहै.

बससेदीजारहीऑक्सीजनसेवा

नॉर्थदिल्लीनगरनिगमद्वारालग्जरीबसकोमिनीअस्पतालकीतरहइस्तेमालकरनेकीतैयारीहै.इस25सीटरबसमेंएकसीटपरऑक्सीजनकंसेंट्रेटर,मोबलाइजरऔरमास्कहोगातोबगलवालीसीटपरमरीजभीबैठसकेगा.जबतकअस्पतालमेंबेडखालीनाहोजाएयाफिरजबतक किसीमरीजकीबारीनहींआजाती,उतनेसमयकेलिएइसबसकाइस्तेमालकियाजासकेगा.कोरोनाकालमेंइसेकोविडमरीजोंकोलिएबड़ीराहतबताईजारहीहै.

इसनईपहलकेबारेमेंमहापौरजयप्रकाशनेबतायाकिअभीयेबसनिगमकेबालकरामअस्पतालमेंतैनातहोगीजहांसेलोगमोबाइलवायुसेवालेसकतेहैं.कोईभीकोरोनामरीजबेडनमिलनेकीस्थितिमेंबसमेंबैठकरअपनीबारीकाइंतजारकरसकताहै.

पूर्वमहापौररविंदरगुप्तानेभीजानकारीदीहैकिअरन्याफाउंडेशन,बाबूपैनिकर्स औरनॉर्थदिल्लीनगरनिगमकेसहयोगसेलग्जरीबसोंमेंऑक्सीजनशुरूकीगईहै.अगरयेपहलसफलरहतीहैतोइसेभविष्यमेंबड़ेस्तरपरभीलागूकियाजासकताहै.

25दिनमेंतीनअस्पतालशुरू

वैसेपिछलेकुछदिनोंसेनॉर्थदिल्लीनगरनिगमकीतरफइसमुश्किलसमयमेंसक्रियभूमिकानिभाईजारहीहै.कमसमयमेंअस्पतालभीबनरहेहैंऔरजरूरतपड़नेपरमरीजोंकोऑक्सीजनसेलेकरजरूरीदवाइयांभीउपलब्धकरवाईजारहीहैं.

बतायागयाहैकिनिगमने25दिनोंकेअंदरतीसराअस्पतालकोरोनामरीज़ोंकेउपचारकेलिएशुरूकरदियाहै.उत्तरीदिल्लीनगरनिगमकेबालकरामअस्पतालमेंसभीबेडकेसाथऑक्सिजनकीसुविधाउपलब्धहै. वहींहिंदूरावअस्पताल,आरबीआईपीएमटीअस्पतालऔरबालकरामअस्पतालमेंकुल500बेडकोरोनामरीजोंकेउपचारकेलिएउपलब्धहैं.

क्लिककरें- दिल्लीमेंऑक्सीजनकेधंधेबाजोंपरछापेमारी,फार्महाउस-रेस्टोरेंटसेअबतक425कंसंट्रेटरजब्त

दिल्लीमेंधीमाहुआकोरोनामीटर

इसकेअलावासमय-समयपरसैनिटाइजेशनकाकार्यकरवानाहोयाफिरश्मशानघाटमेंप्लेटफॉर्मकीसंख्याबढ़ानीहो,इनसभीपहलुओंपरतेजीसेकामहोतादिखरहाहै.अबइनफैसलोंसेदिल्लीकीजनताकोकबतकऔरकितनेबड़ेस्तरपरराहतमिलतीहै,येदेखनेऔरसमझनेकेलिएसभीकोथोड़ाइंतजारकरनाहोगा.अभीकेलिएदिल्लीकाकोरोनामीटरथोड़ासुस्तजरूरपड़ाहै.पिछलेकुछदिनोंसेसक्रंमितमरीजभीकमआरहेहैंऔरसंक्रमणदरभीकमहोतादिखरहाहै.