शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,नौजुलाई(भाषा)दिल्लीमंत्रिमंडलनेशहरमेंकिसीविशेषस्थानपरवास्तविकसमयमेंवायुप्रदूषणमेंवृद्धिकेपीछेकेकारकोंकीपहचानकरनेमेंमददकरनेकेवास्तेएकअध्ययनकरनेकेप्रस्तावकोशुक्रवारकोमंजूरीदी।अधिकारियोंनेयहजानकारीदी।भारतीयप्रौद्योगिकीसंस्थान(आईआईटी)-कानपुर,आईआईटी-दिल्ली,ऊर्जाऔरसंसाधनसंस्थान(टेरी)औरभारतीयविज्ञानशिक्षाऔरअनुसंधानसंस्थान(आईआईएसईआर)मोहालीकीएकटीमद्वाराराष्ट्रीयराजधानीमें‘रीयल-टाइमसोर्सअपॉइंटमेंट’परियोजनाकोक्रियान्वितकियाजाएगा।प्रदूषणकेस्रोतवाहन,धूल,तापविद्युतसंयंत्र,परालीकोजलानाऔरउद्योगोंसेउत्सर्जनहोसकतेहैं।किसीविशेषस्थानपरप्रदूषणकेएकयाअधिकस्रोतहोसकतेहैं।अधिकारियोंनेबतायाकिसूत्रोंकीपहचानकरप्रदूषणपरअंकुशलगानेकेलिएतत्कालकार्रवाईकीजासकतीहै।दिल्लीसरकारने2018में18महीनेकीअवधिमेंइसअध्ययनकासंचालनकरनेकेलिएवाशिंगटनविश्वविद्यालयसेहाथमिलायाथा।अगलेदोवर्षोंमेंकिएजानेवालेनएअध्ययनपरसरकारद्वारा12करोड़रुपयेखर्चकरनेकीउम्मीदहै।पर्यावरणविभागकेएकअधिकारीनेबतायाकिउपकरणोंसेलैसएकमोबाइलप्रयोगशालादिल्लीकेविभिन्नइलाकोंकीछानबीनकरेगी।उन्होंनेकहाकिएक‘सुपरसाइट’होगी,जहांआंकड़ाएकत्रकियाजाएगाऔरआवश्यककार्यवाहीकेलिएव्याख्याकीजाएगी।दिल्लीकेपर्यावरणमंत्रीगोपालरायकेहवालेसेएकबयानमेंकहागयाहै,‘‘दिल्लीसरकारसबसेपहलेवायुप्रदूषणकेस्रोतोंकापतालगानेऔरवास्तविकसमयपरनिगरानीकरनेकेलिएएकअध्ययनशुरूकरेगी।’’