शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,नौदिसंबर(भाषा)विदेशमंत्रालयकेएकअधिकारीनेबुधवारकोकहाकिवैश्विकरूपसेकुशलकार्यबलतैयारकरनेऔरउन्हेंउपलब्धकरानेकेलिहाजसेभारतभू-आर्थिकतथाभौगोलिकतौरपरअच्छीस्थितिमेंहै।कौशलविकासपरनौवेंवैश्विकशिखरसम्मेलनकोसंबोधितकरतेहुएविदेशमंत्रालयमेंसचिव(सीपीवीऔरओआईए)संजयभट्टाचार्यनेकहाकियूरोप,अमेरिकाऔरजापानकेसाथपरस्परलाभप्रदव्यवस्थाकेमाध्यमसेभारतबेहदकुशलश्रमिकोंवपेशेवरोंकीमौजूदगीमेंसुधारकरनेकेलियेतैयारहै।वैश्वीकरणसेआजकीदुनियाकीपहचानहोतीहैजोवैश्विकगतिशीलतापरबढ़तीहै।भट्टाचार्यकेमुताबिक,विशेषज्ञता,क्षेत्रसंबंधीज्ञानऔरकौशलसफलताकीकुंजीहैंऔरयुवाओंकीरोजगारक्षमताकोभीनिर्धारितकरेंगेजोभारतकोजनसांख्यिकीलाभांशदेतेहैंजिसकाफायदादेशको21वींसदीकेउत्तरार्धमेंमिलेगा।‘कामकाभविष्य-विश्वस्तरपरप्रतिस्पर्धीकुशलकार्यबलबनाना’विषयपरबोलतेहुएविदेशमंत्रालयकेवरिष्ठअधिकारीनेकहाकिखाड़ीदेशोंऔरयूरोपमेंपरंपरागतश्रमिकबाजारोंमेंभारतअच्छीस्थितिमेंथा।उन्होंनेकहा,“खाड़ीमेंभारतकीसफलताकीकहानीसर्वविदितहैऔरउनदेशोंमें90लाखसेज्यादाभारतीयश्रमिकऔरपेशेवरहैं।”

By Curtis