शारीरिक शिक्षा

नईदिल्‍ली,पीटीआइ।दिल्लीस्थितअखिलभारतीयआयुर्विज्ञानसंस्थान(एम्स)केएकअध्ययनमेंपायागयाहैकिएचआईवीयाएड्सपीड़ितलोगकोरोनावायरसकेप्रतिकमसंवेदनशीलहोसकतेहैं।शोधकेअनुसार,एचआईवीऔरएड्ससेपीड़ितलोगोंमेंएंटीबॉडीकीमौजूदगीयाSARS-CoV-2केखिलाफसीरोप्रवेलेंसकमपाईगई।शोधकर्ताओंनेपिछलेसालएकसितंबरसे30नवंबरकेबीचएम्सकेएंटी-रेट्रोवायरलथेरेपी(एआरटी)केंद्रसेभर्तीकिएगए164एचआईवी/एड्स(औसत41.2वर्षकीउम्र)लोगोंपरअध्ययनकियाहै।

हालांकिअभीइसअध्ययनकीसमीक्षाकीजानीहै।एचआईवी/एड्ससेपीड़ित164लोगोंमेंएंटीबॉडीकाप्रसार14फीसदपायागयाजोअपनीएंटी-रेट्रोवायरलथेरेपीकेलिएअस्पतालआएथे।यानी14फीसदरोगियोंमेंSARSCoV-2केखिलाफसकारात्मकसीरोलॉजीकापताचला।यहअध्ययन41.2वर्षकीऔसतआयुऔर55फीसदपुरुषोंपरकियागयाथा।अध्‍ययनमेंकहागयाहैकिएचआईवी/एड्सपीड़ि‍तलोगोंमेंकोरोनाकीव्यापकतासामान्यआबादीकीतुलनामेंकमपाईगई।

अध्‍ययनमेंपायागयाकि14फीसदयानी23लोगSARS-CoV-2केलिएसीरोपॉजिटिवथे।टीमनेबतायाकिअधिकांशसीरोपॉजिटिवरोगियोंमेंCOVID-19केन्यूनतमयाकोईलक्षणनहींथे।एचआईवीऔरएड्ससेपीड़ितलोगोंकेनमूनेसितंबरऔरनवंबर2020केबीचतबएकत्रकिएगएथेजबदिल्लीमेंऔसतसीरोपॉजिविटी25.7फीसदथी।ऐसाभीहोसकताहैकिअधिकांशएचआइवीपॉजिटिवघरकेअंदररहेहोंऔरसंक्रमितोंकेसंपर्कमेंनहींआएहोंजिससेउनमेंसीरोप्रवेलेंसकमपाईगईथी...

वैज्ञानिकोंकायहभीकहनाहैकिऐसाभीहोसकताहैकिएचआईवीऔरएड्ससेपीड़ितलोगोंकेशरीरनेएंटीबॉडीनहींबनाईहोयासंक्रमितोंनेइसेज्‍यादादिनतकनहींबनाएरखाहो।उल्‍लेखनीयहैकिसीरोप्रिविलेंस(Seroprevalence)आबादीमेंकिसीबीमारीकेसटीकप्रसारकाअनुमानलगानेमेंमददकरताहै।रिपोर्टमेंकहागयाहैकिमौजूदाअध्ययनएचआईवीऔरएड्ससेपीड़ितलोगोंमेंकोरोनावायरसकेआमलोगोंकीतुलनामेंकमहोनेकासंकेतदेताहै।

By Cooper