शारीरिक शिक्षा

दरभंगा।एचआईवीसेअधिकखतरनाकहेपेटाईटिसबीहै।यहरोगएचआईवीसेअधिकसंक्रामकहोताहै।यहीकारणहैकिदेशमेंहरेकसालआठलाखलोगोंकीमौतहेपेटाईटिसबीसेहोजातीहै।विश्वहेपेटाईटिसदिवसकेमौकेपरशुक्रवारकोडीएमसीएचकेमेडिसीनविभागमेंआयोजितप्रेसमिलिएकार्यक्रममेंविभागाध्यक्षप्रो.डॉ.बीके¨सहनेयेबातेंकहीं।विभागकेअध्यक्षडॉ.¨सहनेबतायाकियहरोगअबखतरनाकहोगयाहै।इधरडीएमसीएचमेंहरदिन40रोगियोंमेंचाररोगीहेपेटाईटिसरोगसेपीड़ितआतेहैं।यहरोगलीवरमेंहोताहै।यहरोगबल्ड,सी¨रज,सीरम,आदिसेफैलताहै।इतनाहीनहींऑर्गन्सकेट्रांसफरसेभीयहरोगफैलताहै।इसतरहकेऑर्गन्सकेट्रांसप्लांटसेकरीबयहतीनप्रतिशतलोगोंमेंफैलताहै।यहरोगएन्टीजेनकेमाध्यमसेफैलताहै।भारतमेंयहरोगसबसेअधिककैरियरकेमाध्यमसेफैलताहै।डॉ.प्रभातकुमार¨सहनेबतायाकिप्रारंभिकअवस्थामेंइसरोगकाउपचारशुरूनहींहोनेसेलीवरसिरोसिसऔरकैंसरकारूपघारणकरलेताहै।इसरोगपरउनकाशोध2001मेंहुआथा।जिसमेंजिनलोगोंमेंइसरोगकेलक्षणनहींपाएगएथेवैसेलोगोंमेंभीयहरोगपाएगएथे।डॉ.एसकेदासनेबतायाकिजागरूकतासेहीइसरोगपरकाबूपायाजासकताहै।इसकेलिएबच्चोंकोशुरूमेंहीइसरोगकेनियंत्रणकेलिएटीकालगादेनाचाहिए।डॉ.एकेझानेबतायाकिइसरोगसेपीड़ितगर्भवतीमाताओंकेसाथबच्चोंकोभीयहटीकालगादेनाचाहिए।डॉ.गोपीनाथदूबेनेबतायाकियहवैक्सीनेशनबाजारमेंकाफीमहंगाहैलेकिनसरकारइसटीकाकोभीमुफ्तकरदियाहै।इसजांचकीमुफ्तसुविधाएंडीएमसीएचमेंहै।डॉ.सुरेंद्रकुमारकाकहनाहैकिसमयरहतेअगरहमनहींचेतेतोयहरोगएकदिनऔरभीभयावहहोजाएगा।

By Collier