शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,आसनसोल:आसनसोलमंडलरेलकेअपरमंडलरेलप्रबंधकमुकेशकुमारमीणावउनकीपत्नीअल्कामीणानेरविवारकोशादीकीवर्षगांठअनूठेतरीकेसेमनाई।शादीकीवर्षगांठपरस्टेशनरोड13नंबरमोड़केसमीपऑलइंडियाआरपीएफएसोसिएशनकार्यालयमेंबाबाबासुकीनाथसेवासमितिकेसहयोगसेजरूरतमंदोंकोभोजनकराया।बड़ीसंख्यामेंजरुरतमंदोंकेबीचलजीजभोजनवमिठाईपत्नीअल्काकेसाथवितरणकरनेकेदौरानएडीआरएमनेकहाकिइंसानियतहीसबसेबड़ाधर्महै।किसीभूखेकोपेटभरकरउनकीभूखकोमिटादे,इससेबड़ीखुशीऔरकुछनहींहोसकती।एकइंसानहीऐसाहैजिसकीरचनास्वंयईश्वरकरतेहैं।ईश्वरकेबनाएंइंसानकोखुशकरनाउनकेचेहरोंपरखुशीलौटानाईश्वरकीपूजाकीबराबरहै।एडीआएमकीपत्नीअल्कानेकहाकिलोगचकाचौंधमाहौलमेंजन्मदिन,विवाहकीवर्षगांठबड़ेहोटलोंरोस्टोरेंटमेंकरलाखोंरुपयेखर्चकरतेहै।वहीदूसरीओरदेशके40प्रतिशतलोगोंकोभरपेटभोजननहींमिलताहै।उनकीभूखनहींमिटती।किसीतरहवहअपनीजीविकाचलातेहैं।खुशीकेमौकेपरऐसेइंसानकीसेवाकरनासबसेपुण्यकाकार्यहै।बाबाबासुकीनाथसेवासमितिप्रत्येकदिनजरूरतमंदोंकोभोजनकराताहै।इसमेंबहुतसेलोगोंकायोगदानरहताहै।वहींकोईजन्मदिन,शादीकीवर्षगांठ,जयंती,पुण्यतिथिपरसमितिमेंआकरजरूरतमंदोंकोभोजनकरातेहै।इसीक्रममेंएडीआरएममुकेशकुमारमीणानेअपनीपत्नीअलकामीणाकेसाथसमितिमेंआकरजरूरतमंदोंकोअपनीशादीकीवर्षगांठपरभोजनकराया।इसमौकेपरमुकेशमीणाऔरअल्कामीणाकोबाबाबासुकीनाथसेवासमितिकीओरसेगुलदस्तादेकरसम्मानितकियागया।

By Cox