शारीरिक शिक्षा

कोरोनाकाकहरजमकरबरसरहाहै।आईआईटीकानपुरकेवैज्ञानिककेअनुमानकेअनुसारकोरोनाकेपीककीशुरुआतहोचुकीहै।बीतेदिनशहरमेंनएसंक्रमितोंकीसंख्या863पहुंचगई।जोकिहैरानकरदेनेवालाहै।अचानकदोगुनेमामलेहोनेसेस्वास्थ्यमहकमापरेशानहै।

लगभगदोगुनेकेआसपासमिलेनएसंक्रमित

शहरमेंनएकोरोनासंक्रमितोंकीसंख्यामेंएकदमसेउछालआयाहै।बीतेदिनसामनेआएमामलोंकीसंख्या863होगई।एकदमसेआएइसउछालनेतीसरीलहरकेचरमपरपहुंचनेकाइशाराकियाहै।वहीराहतकीखबरयहहैकीतीनसंक्रमितडिस्चार्जभीहुए।उन्होंनेतेजीसेरिकवरीकी।क्रमिकपरीक्षणोंकेबादचिकित्सकोंकीटीमनेउन्हेंस्वस्थघोषितकिया।जबकिदोसंक्रमितकोरोनावायरससेलड़तेजिंदगीकीजंगहारगए।शहरमेंअबएक्टिवमामलोंकीसंख्यातीनहजारकोपारकरगईहै।

सचसिद्धहोरहाआईआईटीकानपुरकेप्रोफेसरकाअनुमान

आईआईटीकानपुरकेप्रोफेसरमणीद्रअग्रवालकाअनुमानसचसाबितहोरहाहै।प्रोफेसरअग्रवालनेगणितीयमॉडलकेआधारपरजनवरीकेअंतऔरफरवरीकीशुरुआतकोतीसरीलहरकापीकबतायाथा।जिसकीबानगीदेखनेकोमिलनेलगीहै।अचानकसेएकसाथइतनेकोरोनासंक्रमितमिलनेसेस्वास्थ्यमहकमेमेंहड़कंपमचगयाहै।चिकित्सकलगातारलोगोंकोजागरूकरहनेकीसलाहदेरहेहैं।

By Craig