शारीरिक शिक्षा

वरिष्ठरिटायर्डशिक्षकहाजीमंसूरउद्दीनखाननेकीमांग,यहांभीमिलेंगेकईअवशेष

संवादसूत्रकटकमसांडी(हजारीबाग)पेलावलओपीक्षेत्रांतर्गतगदोखरगांववछड़वाडैमकेसमीपअवस्थितकर्बलाकेआसपासप्राचीनमूर्तियोंकेसाथ-साथकईपुरानेअवशेषप्राप्तहोनेकेसंकेतमिलेहैं।इसकीजानकारीरिटायर्डवरिष्ठशिक्षकहाजीमंसूरउद्दीनखाननेदीहै।बतायाकिइससंदर्भमेंकईबारसामाजिकएवंराजनीतिकदलोंकेसाथसाथक्षेत्रीयपत्रकारबंधुओंद्वारासमाचारपत्रोंकेमाध्यमसेप्रशासनिकमहकमेंवसरकारकेध्यानकोआकर्षितकरनेकाप्रयासकियाजातारहाहै।परंतुइनदिनोंजबबहोरनपुरमेंबौद्धमूर्तियांएवंप्राचीनअवशेषलगातारप्राप्तहोरहेहैं,तोगदोखरकेग्रामीणभीएकस्वरमेंइसक्षेत्रमेंखुदाईकीमांगकरनेलगेहैं।

75वर्षीयगदोखरपंचायतकेबलियंदनिवासीसहसेवानिवृत्तशिक्षकहाजीमंसूरउद्दीनखानइससंदर्भमेंबतातेहैंकियहस्थानकाफीऐतिहासिकरहाहै।इसस्थलकाइतिहाससेबहुतपुरानासंबंधहै।बौद्धकालमेंवाराणसीजानेकीसड़ककटकमसांडीसेहोकरगुजरतीथी।हजारीबागकटकमसांडीमार्गप्राचीनकालमेंओल्डवाराणसीरोडथा।कटकसेवाराणसीजानेवालीपैदलयात्रीइसीरास्तेकाइस्तेमालकियाकरतेथे।बहोरनपुरभीओल्डरोडपरस्थितहै।बहोरनपुरसेछड़वा17किमी.है।बौद्धस्थलइटखोरीकटकमसांडीपीतीजहोतेहुएछड़वाडैमकीदूरी30से32किमी.है।बौद्धमान्यताकेअनुसारबौद्धमठयामंदिरसे21मीलकीपद्धतिमेंबसाजासकताहै।ऐसेमेंबोधगया,वैशाली,नालंदा,साक्षी,कुशीनगर,बहोरनपुरजैसेस्थलोंकेअवशेषएवंप्राचीनमूर्तियांनिश्चितनिश्चिततौरपरऐसेस्थानकीखुदाईकरनेपरप्राप्तकिएजासकतेहैं,जोइसपंचायतकेसाथसाथइसक्षेत्रऔरपूरेराष्ट्रकोगौरवान्वितकरनेकाकार्यकरेगी।प्रशासनिकपहलसेइसस्थलकोरेखांकितकरतेहुएशीघ्रहीखुदाईकीजानीचाहिए।

By Curtis