शारीरिक शिक्षा

नयीदिल्ली,12अगस्त(भाषा)दिल्लीकेएकनिजीअस्पतालकेडॉक्टरोंनेअफगानिस्तानकीछहमहीनेकीगर्भवतीमहिलाकेअग्नाश्यकेकैंसरकासफलतापूर्वकऑपरेशनकरकेउसेनईजिंदगीदीहै।अस्पतालकेडॉक्टरोंकेमुताबिक,यहसर्जरीकाफीजटिलथी,क्योंकिमहिलागर्भवतीहैऔरउनकेसीटीस्कैनजैसेकईपरीक्षणनहींकिएजासकतेथे।इसकाबच्चेपरदुष्प्रभावपड़नेकाअंदेशाथा।फोर्टिसअस्पतालनेबृहस्पतिवारकोएकबयानमेंबतायाकिदुनियाभरमेंचंदहीगर्भवतीमहिलाओंकीअग्नाश्यकेकैंसरकीसर्जरीकीगईहैऔरशायदयहभारतकीपहलीऐसीसर्जरीहै।वसंतकुंजस्थितअस्पतालमेंगैस्ट्रोइंटेस्टाइनलऑन्कोलॉजीकेनिदेशकडॉअमितजावेदनेबतायाकिफहीमाकोजबपताचलाकिवहअग्नाश्यकेकैंसरसेपीड़ितहैं,उससमयवहसाढ़ेपांचमहीनेकीगर्भवतीथीं।अस्पतालनेएकबयानमेंकहाकिउनकेगर्भवतीहोनेकीवजहसेऑपरेशनकरनाचुनौतीपूर्णथाऔरउनकीकीमोथेरेपीभीनहींकीजासकतीथी।अस्पतालकेप्रवक्ताकेमुताबिक,इसहालतमेंऑपरेशनकरनेसेमांऔरबच्चेकीजानकोखतराहोसकताथालेकिनअस्पतालकेडॉक्टरोंकीटीमनेतालमेलसेकामकियाऔरसर्जरीकरकेट्यूमरनिकालदिया।डॉजावेदकेमुताबिक,ऑपरेशनचारघंटेचलाऔरऑपरेशनकेबादकीगईजांचोंसेपताचलाहैकिट्यूमरपूरीतरहसेनिकालदियागयाहैऔरबच्चाभीस्वस्थहै।फहीमासर्जरीसेउबरीऔरउन्हेंऑपरेशनकेसातदिनबादअस्पतालसेछुट्टीदेदीगई।