शारीरिक शिक्षा

झरिया,[गोविन्दनाथशर्मा]।स्नेहाचौधरी।यहीनामहै22वर्षीयफतेहपुरझरियामेंरहनेवालीवसुशिक्षितसमाजकासपनादेखनेवालीइसयुवतीका।झरियामेंबच्चेइन्हेंस्कूलवालीदीदीकेनामसेजानतेहैं।ममताचौधरीऔरसुभाषचौधरीकीपुत्रीस्नेहाशैक्षणिकसमाधानसंस्थासेजुड़ेएकसौगरीबबच्चोंकोझरियामेंपढ़ातीहैं।इंटरमीडिएटकीपढ़ाईबालिकाविद्यामंदिरझरियासेकरनेकेबादस्‍नेहाअभीमहिलामहाविद्यालयझरियासेग्रेजुएशनकररहीहै।10वींकीशिक्षाप्राप्तकरनेकेबादसेहीस्नेहासमाधानसंस्‍थासेजुड़ेगरीबबच्चोंकोनिशुल्कपढ़ारहीहै।कक्षाछह-साततककेबच्चोंकोनिश्शुल्कपढ़ानेवालीस्नेहाकाकहनाहैकिगरीबबच्चोंकोपढ़ाकरअंतर्मनकोबहुतखुशीमिलतीहै।

भाईसेमिलीबच्चोंकोनिश्शुल्कपढ़ानेकीप्रेरणा

स्नेहाकाकहनाहैकिमेराएकभाईहै।उनकानामखुशालचौधरीहै।मुझेसमाधानसेजुड़नेवबच्चोंकोनिश्शुल्कपढ़ानेकीप्रेरणाभाईसेमिली।चारसालपूर्वजबमैंझरियाचिल्ड्रेनपार्कमेंरविवारकोजातीथीतोभाईकोसमाधानकेसामूहिकक्लासमेंबच्चोंकोपढ़तेदेखतीथी।मुझेबहुतअच्छालगताथा।यहींसेमेरेअंदरभीबच्चोंकोनिश्शुल्कपढ़ानेकीप्रेरणाजागी।इसकेबादमैंनेअपनेमाता-पितासेपूछाकिक्यामैंभीयहनेककामकरसकतीहूं।तबमेरेमाता-पितानेमुझेकहाकियहकामजरूरहै,लेकिनइसेदिललगाकरकरना।तबसेमुझेसमाधानमेंजुड़नेकीप्रेरणामिली।पिछलेचारसालसेबच्चोंकोपढ़ारहीहूं।

माता-पिताकेअलावासमाधानकेसंस्थापकनेबढ़ायाहौसला

स्नेहाकाकहनाहैकिअंतर्मनसेबच्चोंकोनिश्शुल्कपढ़ानेकीभावनाजागनेकेबादमैंनेसबसेपहलेअपनेमाता-पितासेमिलकरबातकी।माता-पितानेबच्चोंकोनिश्शुल्कपढ़ानेकेलिएमेराहौसलाबढ़ाया।इसकेबादमैंसमाधानसंस्थाकेसंस्थापकचंदनसिंहसेबच्चोंकोनिश्शुल्कपढ़ानेकेलिएअपनीइच्छाजताई।चंदनसरनेभीकहाकियहतोबहुतअच्छीबातहै।इसकेबादचारसालसेबच्चोंकोपढ़ारहीहूं।मैंभविष्यमेंजहांभीरहूंगी,गरीबबच्चोंकोनिश्शुल्कपढ़ानाकभीनहींछोडूंगी।

कोरोनाकालमेंबच्चोंकोऑनलाइनपढ़ाया

कोरोनावायरसकालमेंलगभगआठमहीनेतकस्नेहाएकसौबच्चोंकोऑनलाइनपढ़ायाकरतीथी।लॉकडाउनमेंस्कूलकेबंदहोनेपरबच्चोंकेअभिभावकोंनेऑनलाइनपढ़ानेमेंसहयोगकिया।अबसमाधानकेस्कूलझरियामेंजाकरपढ़ारहीहूं।कोरोनाकालकेपूर्वबच्चोंकोचिल्ड्रेनपार्कझरियामेंपढ़ातीथी।

पढ़ाईकेसाथबच्चोंकोचित्रकलाऔरडांसकीभीस्नेहादेतीहैशिक्षा

स्नेहाकाकहनाहैकिपढ़ाईकेदौरानबच्चेजबबोरहोनेलगतेहैंतोउन्हेंबीच-बीचमेंचित्रकलासिखाईजातीहै।विजेताबच्चोंकोछोटाहीसही,उपहारदेकरउत्साहितकियाजाताहै।इसकेअलावाछोटीबच्चियोंकोडांसकीभीशिक्षादीजातीहै,ताकिवेमानसिकऔरशारीरिकरूपसेहमेशास्वस्थरहें।सप्ताहमें3दिनपढ़ाईकेबादचित्रकलाप्रतियोगिताऔरडांससिखानेकाकार्यक्रमकरतेहैं।कईबच्चियांतोबहुतअच्छाचित्रबनानेकेसाथडांसभीकरनेलगीहैं।यहदेखकरहमेंबहुतखुशीमिलतीहै।मेरासपनाहैकियेगरीबबच्चेपढ़-लिखकरभविष्यमेंअपनेपरिवारऔरशहरकानामरोशनकरें।इसकेलिएमैंबच्चोंकोसेवाकीभावनासेनिशुल्कपढ़ारहीहूं।

By Daniels