शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,नगरा(बलिया):पकड़ीथानाक्षेत्रकेबडसरासलेमपुरकेतीनमजदूरोंकीसोमवारकोट्रकसेकुचलकरहुईमौतकेबादगांवमेंमातमपसराहुआहै।घरकीमहिलाओंकीचीत्कारसेहरकिसीकीआंखेंद्रवितहोजारहीथीं।मृतकरमाकांत,किशुनदेववरामाश्रयअपनेघरकेकमाऊपूतथे।

राजमिस्त्रीकाकार्यकरअपनेपरिवारकाभरणपोषणकररहेथे।दुर्घटनाकेसमयतीनोंसिकंदरपुरथानाक्षेत्रकेकिकोढागांवसेकामकरबाइकसेघरलौटरहेथे।डकीनगंजचट्टीकेसमीपतीनोंओवरटेककरतेसमयट्रककीपहिएकेनीचेआगएथे।घटनाकीखबरज्योंहीगांवमेंपहुंचीचहुओरशोककीलहरदौड़पड़ी।मृतकरामाश्रयकीपत्नीकंचनदेवीकाकरुणक्रंदनजारीथातोवहींखड़ेदोछोटेबच्चोंकिशुन(6)वमुन्ना(4)कीनिगाहेंअपनेपापाकोढूंढरहींथीं।भीड़मेंदोनोंबच्चेलोगोंसेपूछरहेथे..पापाघरकबआएंगे।

उधरकिकोढाकेरमाकांतकेघरपरपत्नीविद्यावतीवतीनपुत्रोंकेसाथबडसरासलेमपुरमेंरहतेथे।पतिकीमौतकीखबरसेविद्यावतीकीहालतपागलोंजैसीहोगईहै।महिलाओंसेघिरीविद्यावतीकेमुंहसेबारबारयहीशब्दनिकलरहेथे,विधनाहमरीसंगेई..काकईदिहलेरेदइबा।बस्तीकीमहिलाएंढ़ाढ़सबधारहीथीं।मृतककिशुनदेवकीपत्नीउर्मिलाभीपतिकेगममेंबेसुधपडीहुईंथी।

किशुनदेवकीदोपुत्रियांवदोपुत्रहैं।जिसमेंएकपुत्रीवएकपुत्रकीशादीहोचुकीहै।पूरेपरिवारकोसंभालनेकीजिम्मेदारीकिशुनदेवकेकंधेपरहीथी।उन्हेंपूरेदिनकीजोमजदूरीमिलतीथीउसीसेपरिवारकाभरणपोषणहोताथा।तीनोंमजदूरोंकीमौतकेबादउनकेबच्चेअनाथहोगएहैंऔरपत्नियांभीबेसहाराहोगईंहैं।

By Cooke