शारीरिक शिक्षा

लखनऊ,अंकितश्रीवास्तव।HappyNurseDay2021नर्सिंगकाशाब्दिकअर्थचाहेजोहो,परंतुइसशब्दकोसुनकरमनमेंभावसेवाऔरसमर्पणकाहीआताहै।संपूर्णविश्वइसबातसेइंकारनहींकरसकताकिनर्सिंगआजकीस्वास्थ्यप्रणालीकीरीढ़कीहड्डीसाबितहुईहै।अभीतकजहांडॉक्टरहमारीस्वास्थ्यप्रणालीमेंकेंद्रकीभूमिकामेंरहेहैंवहींनर्सोंनेइसमहामारीमेंकंधेसेकंधामिलाकरहमारीस्वास्थ्यसेवाओंकोअतुलनीययोगदानदियाहै।

हरवर्षकीतरहइसवर्षभीआज12मईकोफ्लोरेंसनाइटेंगलकीजन्मतिथिपरअंतरराष्ट्रीयनर्सिंग दिवसमनायाजाएगा।यहदिवसदुनियाभरकीनर्सोंऔरउनकेपेशेकेसम्मानकोसमर्पितहै।फ्लोरेंसनाइटेंगलसमाजसुधारकऔरपेशेसेएकनर्सथीं।क्रीमियायुद्धकेदौरानसैनिकोंकीनिस्वार्थसेवाएवंनर्सोंकीप्रबंधकऔरप्रशिक्षककेरूपमेंउनकीभूमिकाकीकाफीसराहनाकीगई।इसकेकारणउन्हेंंलेडीविददलैंपकहाजानेलगा।इसवर्षअंतरराष्ट्रीयनर्सिंगदिवसकीथीम-एवॉइसटूलीड,एविजनफॉरफ्यूचरतयकीगईहै।इसकाआशयहैकिनर्सेंअबविश्वपटलपरस्वास्थ्यप्रणालीकाप्रतिनिधित्वकरसकतीहैं।

कोरोनामहामारीकेप्रथमचरणमेंजहांस्थितिगंभीरसेभयावहहुई,वहींअबयहयुद्धस्तरतकजापहुंचीहै।ऐसेमेंभारतकेएकप्रसिद्धसंवादलेखककेशब्दोंमेंकहेंतोसरहदपरजोवर्दीखाकीथीअबउसकारंगसफेदहुआ।येपंक्तियांइसबातकोस्पष्टकरतीहैंकिकैसेहमारेसभीस्वास्थ्यकर्मीकोरोनायोद्धाबनचुकेहैं।इसमेंनर्सिंगकायोगदानअतुलनीयहै।मौजूदादौरमेंकोरोनासंक्रमणसेलड़नेमेंनर्सोंनेबढ़-चढ़करअपनीआहुतिभीदीहै।अगरइंटरनेशनलकाउंसलऑफनर्सेजकेद्वाराजारीकिएगएआंकड़ोंकीमानेंतोविश्वभरमेंलगभग1500नर्सोंनेअपनेजीवनकीआहुतिदीहै,वहींभारतमेंयहसंख्यादोसौसेऊपरकेकरीबहै।जीवनजीनेकेलिएखानेऔरपानीकेअतिरिक्तजोसबसेज्यादाआवश्यकवस्तुहैवहहैउम्मीद।अगरजीनेकीउम्मीदहीनबचेतोजीवनअनर्गलसामहसूसहोताहै।

नर्सेंनकेवलहिम्मतहारचुकेव्यक्तिकीउम्मीदबढ़ातीहैं,बल्किउसमेंहिम्मतकासंचारभीकरतीहैं।डॉक्टरमरीजकोउचितदवातोलिखदेतेहैं,परसहीप्रक्रियाकापालनकरतेहुएमरीजकोदवादेनामहत्वपूर्णजिम्मेदारीहै।येनर्सेंहीहोतीहैं,जोमरीजकेपाससबसेज्यादासमयबितातीहैं।कोरोनाकालमेंतोनर्सेंकईबारचिकित्सककेपूरककेरूपमेंभीनजरआतीहैं।

कोरोनाकालमेंनर्सिंगकेयरकाबहुतमहत्वपूर्णरोलहै।मौजूदादौरमेंयहसमयकीमांगहैकिपरिवारकेसभीलोगोंकोनर्सिंगकेयरआनीचाहिएसाथहीआइसोलेशनमेंरहरहेव्यक्तिकोस्वयंकीभीदेखभालनिम्नलिखितबिंदुओंकेआधारपरकरनीचाहिए।