शारीरिक शिक्षा

काबुल,11दिसंबर(एपी)अफगानिस्तानमेंहालकेमहीनोंमेंबढ़ीहिंसाकेकारणअफगाननागरिकोंकादेशकीशांतिप्रक्रियाकेप्रतिउम्मीदकाफीहदतकघटीहै।‘दइंस्टीट्यूटऑफवारएंडपीसस्टडिज’नेशुक्रवारकोजारीअपनेनएसर्वेक्षणमेंकहाहैकि29सितंबरसे18अक्टूबरकेबीचहुएसर्वेमेंआशावाद57प्रतिशतरहगयाहै।इससेपहलेइंस्टीट्यूटनेगर्मियोंमेंकिएगएसर्वेक्षणकानिष्कर्षअगस्तमेंजारीकियाथाउसवक्तआशावाद86प्रतिशतथा।अफगानिस्तानसरकारऔरतालिबानकेबीचकतरमेंजारीशांतिवार्तामेंपिछलेसप्तहतकगतिरोधकीस्थितिबनीहुईथी,उसकेबादमिलीसफलतामेंदोनोंपक्षोंमेंबातचीतकेनियमोंऔरप्रक्रियाकोलेकरसहमतिबनगईहै।लेकिन,सितंबरसेशुरूहुईइसशांतिवार्ताकेबादसेदेशमेंहिंसाकीघटनाएंबढ़गईहैं।तालिबाननेएकओरजहांअमेरिकीऔरनाटोबलोंपरहमलानहींकरनेकेअपनेवादेकोनिभायाहै,वहींवहअफगानबलोंपरलगातारजानलेवाहमलेकररहाहै।काबुलकेइसथिंकटैंकनेअपनेसर्वेमेंपायाकि75.9प्रतिशतलोगचाहतेहैंकिसरकारऔरतालिबानकेबीचबातचीतमेंसंघर्षविरामसमझौतासर्वोच्चप्राथमिकताहोनीचाहिए।वहीं71प्रतिशतलोगोंकामाननाहैकिदेशकोशांतिसमझौतेकेबादअपनीसेनाऔरसुरक्षाबलोंकोसमाप्तनहींकरनाचाहिए।अफगानिस्तानकेराष्ट्रपतिअशरफगनीनेहालांकिइसविचारकीआलोचनाकीहै।एपीअर्पणापवनेशपवनेश

By Dale