शारीरिक शिक्षा

महेंद्र¨सहमेहरा,सिरसा:बिरानीभूमिमेंपारंपरिकखेतीकोछोड़करफूलकीखेतीकरकेकिसानलाखोंरुपयेकीआमदनीलेरहाहै।जिससेकिसाननेअपनीअलगसेपहचानबनाईहै।गांवनाथूसरीकलांनिवासीकिसानहनुमानकासनियानेधानवनरमाकीखेतीकोछोड़करगेंदावगुलाबकेफूलोंकीखेतीकररहेहैं।इसव्यवसायमेंउन्हेंअच्छीखासीआमदनीभीहोरहीहै।कुछलोगतोगाड़ीकोभीसजानेकेलिएयहांपहुंचतेहैं।यहांकेफूलोंकोलोगकाफीबेहतरमानतेहैं।

किसानहनुमाननेस्नातकतकपढ़ाईकीहुईहै।हनुमानकासनियांनेबतायाकिअपनेदोस्तोंकेसाथराजस्थानमेंघूमनेकेलिएपुष्करगयाहुआथा।वहांपरकिसानोंकोफूलकीखेतीकरतेहुएदेखा।जिसपरफूलकीखेतीकरनेकाविचारआया।इसकेबादगांवमेंआकरदोसालसेफूलोंकीखेतीकरनेमेंजुटगया।किसानहनुमाननेबतायाकिफूलोंकीदोएकड़मेंखेतीकररखीहै।एकएकड़भूमिमेंदोलाखरुपयेतककीआमदनीहोजातीहै।खरीदारखुदपहुंचतेहैंफूललेने

किसानहनुमानकासनियानेबतायाकि¨सचाईतथानिराई-गुड़ाईकिएजानेकेसाथहीफूलोंपरनियमितरूपसेध्यानदेतेहैं।तीनमहीनेबादफूलतैयारहोजातेहैं।तीनमाहतकनियमितरूपसेउनपौधोंसेफूलनिकलताहै।फिरउनपौधोंकोहटाकरनयापौधालगानापड़ताहै।शादीविवाहकेसमययहांकेफूलकीमांगबढ़जातीहै।फूलोंकोबेचनेकाभीकोईझंझटनहींहै।यहांपरखुदफूलोंकाकारोबारकरनेवालेलोगफूललेनेकेलिएपहुंचतेहैं।जबकिनरमावधानकीखेतीपरआजखर्चबढ़गयाहै।वहींइसमेंकईतरहकीबीमारियांआजातीहै।जिसकेलिएबारबारकीटनाशकोंकाप्रयोगकरनापड़ताहै।दूसरेकिसानोंकोभीकररहेहैंप्रेरित

किसानहनुमानफूलोंकीखेतीकेलिएदूसरेकिसानोंकोभीप्रेरितकररहेहैं।उन्होंनेबतायाकिधानकीफसललेनेकेबादकिसानपरालीकोआगलगादेतेहैं।इससेकाफीप्रदूषणहोताहै।जबकिगेंदालगानेसेपर्यावरणभीस्वच्छरहताहै।इससेआमदनीभीबहुतअच्छीहोतीहै।

By Dale