शारीरिक शिक्षा

सिद्धार्थनगर:बालमजदूरीकोरोकनेवउनकेभविष्यकोसंवारनेकेलिएतमामनियमकानूनबनानेकीओरसरकारप्रयासरतहैपरइसकासार्थकअसरनहींदिखाईपड़रहा।शनिवारकोविश्वबालश्रमनिषेधदिवसपरभीबोझालेकरचलताबचपननगरमेंदिखाईदिया।

चायकीदुकानोंमेंकप,गिलासवअन्यकार्यकोकरते10से12वर्षकेबच्चोंकोआजकेदिवसकाभानतकनहींहै।हांउन्हेंबसयहमालूमहैकिहमेंबीमारमांवछोटेभाईबहनोंकेलिएखानेकाइंतजामकरनाहै।दुकानोंपरकिरानेकाभारीभरकमसामानव20से40किलोवजनकाकोल्डड्रिक्सकीबोतलवजनउठानेमेंइनकीनन्हींजानभीकांपजातीहै।इन्हेंअपनीथकानकाकोईमलालनहीं।दुकानोंपरपानीकाबोतलपहुंचानेवाले13वर्षीयअकबरनगरवार्डनिवासीराजेशकाकहनाथाकामनहींकरेंगेतोशामकोमालिकहमेंदिहाड़ीकादोसौरुपयेनहींदेगा।इससेसेहमारेघरशामकाखानाबनेगा।इसउम्रमेंउन्हेंघरचलानेकीफिक्रहै।नगरकेरोडवेजचौराहा,नईतहसीलगेटकेसामने,पुरानीतहसीलवपेट्रोलपंपस्थितचायपानकीदुकानोंपरहाड़तोड़मेहनतकरताबचपनहरअधिकारीकोदिखताहै।परलोगऐसायहकिसमजबूरीमेंकररहेयहपूछनेतककिजहमतनहींउठाते।सत्यतायहहैकिकुछपरिवारकीआर्थिकस्थितिठीकनहोनेकेकारणखेलनेवपढ़नेकीउम्रकोबोझतलेकुर्बानकररहेतोकुछमांकीदवावछोटेभाईवबहनकोदोजूनकीरोटीकेइंतजामकेलिएखुदकोबोझतलेदबारहे।ज्वाइंटमजिस्ट्रेटजगप्रवेशनेकहाकिकिसीभीदुकानदारवव्यापारीकोबच्चोंसेकामनहींलेनाचाहिए।यदिवहऐसाकरतेपाएजातेहैंतोउनपरकार्रवाईहोतीहै।वैसेसमयसमयपरबालश्रमविभागछापेमारीकरबच्चोंकोमुक्तभीकराताहै।