शारीरिक शिक्षा

दरभंगा।रमजानमेंनन्हेरोजेदारोंकाउत्साहबढ़ताजारहाहै।ईदआनेकीखुशीमेंबच्चेकाक्रेजकपड़ोंकीतरफअधिकहै।बच्चेखासकरजुमाकेदिनकारोजाहरहालमेंकरतेहैं।बच्चोंकामाननाहैकिएकमाहकेरोजामेंइस्लामीअरकानवफरायेजकोसिखनेकामौकामिलताहै।सरैयानिवासीअजहरूलहोदाके7वर्षीयपुत्रमो.अशहाजअजहरकहतेहैंकिहमेरोजारखनेसेबड़ासुकूनमिलताहै।शामहोतेहीइफ्तारकीतैयारीकरनेकामजाहीकुछऔरहीहै।मो.कफीलकाभांजा5वर्षीयअरफानअजहरकामाननाहैकिजुमाकेदिनरोजारखनेकीखासअहमियतहै।रमजानमेंदीनहदीशकीबातकाजिक्रहोनेसेइस्लामकीबातकोसिखनेवसमझनेकामौकामिलताहै।बस्तवाड़ानिवासीशिक्षिकानिकहतअफरोजकी7वर्षीयपुत्रीखुशनूमागुफरानकहतीहैकिबच्चोंकेरोजारखनेमेंमांकाअहमरोलहै।बस्तवाड़ाकेकिरानाव्यवसायीगुफरानअलीके10वर्षीयपुत्रअरमानअलीकाकहनाहैकिरोजासेहतकेलिएजरूरीहै।रोजाहरइंसानकोरखनाचाहिए।

शबएकदरकीरातनेकअमालकेहैं:हाफिजजिशान

माहेरमजानकाहरपलनेकीवशबाबकाहै।बस्तवाड़ाकेमस्जिदेबेलालमेंमुनअकीदनमाजएतरावीहकेसमापनपरहाफीजजीशानअंसारीनेयहबातेंकहीं।वेसबसेकमउम्रकेहाफीजेकुरानहै।वेस्थानीयमनिहासनिवासीजफरआलमकेपुत्रहैं।इन्होंने15दिनोंमेंतीसपाड़ाकुरानकीतलावतकरनमाजेतरावीहकाफर्जअदाकिया।कहतेहैंकिअल्लाहकाखासरहमवकरमहैकिगुजरातसेपढा़ईकरनेकेबादअपनेगांवमेंतरावीहपढा़नेकाउन्हेंपहलामौकामिला।कहाकिमाहेरमजानमेंपहलेसेज्यादानेककामोंकाशबाबकईगुनाबढ़ादियाजाताहै।रमजानकातीसराअशरागुनाहोंसेनिजातकाहोताहै।नेकअमलसेइंसानजहन्नुमकेआगकोबुझासकताहै।शबएकदरकीरातकाअलगनेकअमालहै।रातभरअल्लाहकीबारगाहमेंजगकरइबादतकरना,सदकाएफितरकीअदायगीवपूरेमाहकेरोजेरखनेवालाबंदासबसेखुशनसीबहै।