शारीरिक शिक्षा

अंडाल:ईसीएलकेबंकोलाकोलियरीमेंमाइनिगसरदारकेपदपरकार्यरतसाहबप्रसादनामककोयलाकर्मीकीमौतअस्पतालमेंहोगई।श्रमिकोंनेप्रबंधनपरइलाजमेंलापरवाहीकाआरोपलगायाएवंबंकोलाकोलियरीडिस्पेंसरीकेसमक्षप्रदर्शनकिया।जहांकोलियरीचिकित्सककाघेरावकरदिया।माइनिगसरदारकीसंस्था(इनमोसा)कीओरसेबंकोलाकोलियरीसचिवप्रियपदमुखर्जीनेकहाकिसाहबप्रसादविगतकुछदिनोंसेशारीरिकरूपसेअस्वस्थथे।दोदिनपहलेउन्हेंतेजबुखारहोनेकेकारणकोलियरीकेचिकित्सककोसूचितकियागया।परंतुचिकित्सकनेउन्हेंइलाजप्रदानकरनेकीजगहपहलेकोरोनाजांचकरानेकीसलाहदी।इलाजकेअभावमेंसोमवारकीरातसाहेबप्रसादकीमौतहोगई।उन्होंनेकहाजरूरीनहींकिकोईभीबुखारकोरोनाहीहो।प्राथमिकउपचारनहोनेकेकारणउनकीकीमौतहुईहै।जिसकाजिम्मेदारकोलियरीकेचिकित्सकहैं।मृतककर्मीकेपरिवारकोउचितमुआवजाकीमांगकीगई।हालांकिकोलियरीकेडॉक्टरकाकहनाहैकिमरीजखुदअस्पतालमेंआनेकेबजायअपनेकिसीपड़ोसीकोअस्पतालभेजाथा।पड़ोसीनेमरीजकीजैसीअवस्थाबताई,उसकेअनुसारकोरोनासंक्रमणकालक्षणहोनेकासंदेहथा।इसकारणउसेकल्लाअस्पतालजाकरजांचकरवानेकेलिएकहागयाथा।

चितरंजनमेंमाकपाकार्यकर्ताकाक्षत-विक्षतशवमिला

आसनसोल:चितरंजनकेफतेहपुरइलाकेमेंमंगलवारकोएकक्षत-विक्षतशवमिलनेसेइलाकेमेंसनसनीफैलगई।मृतककीपहचान56वर्षीयनीतीशदासकेरूपमेंहुई।वहइसक्षेत्रमेंमाकपाकेसक्रियकार्यकर्ताथे।वहफतेहपुरसीपीएमकार्यालयमेंहीअधिकांशसमयरहतेथे।वहफतेहपुरइलाकेमेंरोडनंबर49केअंतमेंएकमिट्टीकेघरमेंरहतेथे।उनकेभतीजेतारादासनेकहाकिउनकेपासरोजगारकाकोईस्थायीसाधननहींथा।कभीसुरक्षागार्ड,कभीकैटरिगकरजोभीआमदनीहोतीथी,उसीसेगुजाराकरतेथे।कोरोनाकेबादसे,समस्याएंपैदाहुईहैं।वहतीनमईकीसुबहघरसेनिकलेऔरवापसनहींलौटे।इसबीच,मंगलवारसुबहस्थानीयलोगखेतमेंगएऔरझाड़ीमेंएकपेड़केनीचेएकशवदेखा।जिसकीपहचाननीतीशदासकेरूपमेंहुई।वहांकार्बोलिकएसिडकीबोतलमिली।आशंकाहैकिउन्होंनेएसिडपीकरआत्महत्याकरली।वहींरातकोकिसीजंगलीजानवरनेशरीरकेबड़ेहिस्सेकोनोंचलिया।पुलिसनेशवकोकब्जेमेंलेकरपोस्टमार्टमकेलिएजिलाअस्पतालभेजदिया।

By Cox