शारीरिक शिक्षा

संवादसहयोगी,झरिया:दीपावलीकोलेकरकोयलांचलकेबाजारोंमेंरौनकबढ़गईहै।बाजारोंमेंखरीदारोंकीभीड़उमडऩेलगीहै।छोटे-बड़ेदुकानदारभीग्राहकोंकीपसंदकोध्यानरखतेहुएउनकीपसंदकीवस्तुएंअपनीदुकानोंमेंरखेहैं।वहींबच्चे,किशोरवयुवाभीपटाखेकीखरीदारीमेंलगेहुएहैं।

हालांकिइसबारसोने-चांदीकीकीमतोंकेसाथपटाखेभीमहंगेहुएहैं।बोरापट्टीझरियाकेदुकानदारसिकंदरपटाखावालाबतातेहैंकिलगभगपांचमाहतकशिवकाशीकेपटाखाकारखानोंकोसरकारकेआदेशपरबंदकरदियागयाथा।इसकीवजहसेपटाखोंकीकीमतोंमेंइसवर्षलगभग15प्रतिशतकीउछालआईहै।इसकेकारणग्राहकोंकोज्यादापैसेदेकरपटाखेखरीदनेपड़रहेहैं।इसवर्षकुछकमपटाखेकोयलांचलमेंआएहैं।शिवकाशीमेंहीपटाखोंकीकीमतोंमेंवृद्धिहुईहै।इसकाअसरदुकानदारवआमलोगोंपरपढ़रहाहै।

फिलहालबढ़ीकीमतोंकानहींदिखरहाअसर: दिवालीसेपहलेहीझरियाकीपटाखादुकानोंमेंलोगोकीभीड़जुटनेलगीहै।दुकानदारोंनेबच्चोंकोलुभानेकेलिएइसवर्षकईप्रकारकेछोटे-छोटेपटाखेबाजारमेंउतारेहैं।हरकोईअपनीसामर्थ्‍यकेअनुसारपटाखेकीखरीदारीकररहाहै।सबसेअधिकडिमांडसीता-गीता,गणेशअनारवनागिनपटाखोंकीहै।पटाखोंकीकीमतोंमेंबढ़ोत्तरीहोनेकेबावजूदलोगदीपावलीकेपर्वकोधूम-धड़ाकासेमनानेकीतैयारीमेंलगेहैं।बच्चेहीनहीं,बल्किनौजवानभीइसकीतैयारीमेंजुटेहैं।दीपावलीमेंलाखोंकेपटाखेधुएंमेंउड़ादियेजातेहैं।प्रतिवर्षप्रशासनकेनिर्देंशपरपटाखोंकीदुकानोंकोघनीआबादीसेदूररखनेकीहिदायतदीजातीहै।बावजूदइसकेशहरमेंकईजगहोंछोटीछोटीदुकानोंपरपटाखेकीबिक्रीखुलेआमहोतीहै।दीपावलीके10दिनपहलेसेहीलोगोंनेपटाखोंकीखरीदारीशुरूकरदीहै।हरकोईअपनेपरिचितदुकानदारकेयहांइसउम्‍मीदमेंपहुंचरहाहै,किवहांसहीदरोंपरपटाखेमिलजाएंगे।

90डेसिबलसेकमआवाजवालेपटाखेकीबिक्रीकीहैअनुमति: राज्यप्रदूषणनियंत्रणबोर्डने90डेसिबलसेकमआवाजवालेपटाखोंकीहीबिक्रीकीअनुमतिदुकानदारोंकोदीहै।चूंकिकोयलांचलमेंपटाखोंकीआवकशिवकाशीसेहोतीहै,इसलिएयहांभीपटाखोंकीजांचप्रशासनकीओरसेकीजातीहै।झरियामेंपटाखोंकीकईबड़ीदुकानेंहैं।वर्ष2016मेंकमआवाजवालेपटाखोंकेनामपरउच्चक्षमतावालेपटाखाबनानेकामामलाप्रकाशमेंआयाथा।झरियापुलिसनेकईदुकानोंमेंछापेमारीभीकीथी,लेकिनजांचमेंकुछभीआपत्तिजनकनहींपायागयाथा।

ऊपरकुल्हीझरियामेंदुकानलगानेवालेबाबरपटाखावालानेकहाकिकिसरकारकेनियमोंकापालनकरतेहुएकमआवाजकेपटाखेबाजारमेंबेचेजारहेहैं।वहीलोगोंमेंइसबारपटाखोंकारंगधीरेधीरेचढ़ारहाहै।दीपावलीआनेसे10दिनपहलेसेहीलोगोंमेंखरीदारीकारंगचढ़जाताथा,परइसवर्षवहदेखनेकोअभीतकमिलानहींहै।शिवकाशीकेकारखानोंकोसरकारद्वारापांचमाहतकबंदकरनेकीवजहसेभीपटाखेंकुछमहंगेहुएहैं।नयेपटाखेबच्चोंकोलुभारहेहैं।

बच्चोंकोलुभारहेरंग-बिरंगीपटाखे:बच्चोंकोलुभानेकेलिएझरियाबाजारकीदुकानोंमेंछोटी-छोटीलडि़यां,झिलमिलातीफुलझड़ी,रोशनी,रंगबिरंगेअनार,गणेशअनारआदिहैं।

चॉकलेटबम30-60रुपये प्रतिपैकेट