शारीरिक शिक्षा

अरविंदजयतिलक।जैविकईंधनकेइस्तेमालकोबढ़ावादेनेकेलिएहरसाल10अगस्तकोजैवईंधनदिवसमनायाजाताहै।यहसुखदहैकिदुनियाजैविकईंधनकीओरतेजीसेअग्रसरहै।इससेभीअच्छीबातयहहैकिविकसितदेशोंकाहृदयपरिवर्तनहोरहाहै।उन्होंनेतयकियाहैकिकार्बनडाईआक्साइडकेउत्सजर्नकोवातावरणमेंकमकरनेकेलिएकोयलेकीपरियोजनाओंसेदूररहेंगे।इसीकोध्यानमेंरखतेहुएगतवर्षकोप-23नामकेसंयुक्तराष्ट्रपर्यावरणपरिवर्तनसम्मेलनमेंग्लोबलवार्मिंगऔरवायुप्रदूषणकीरोकथामकेलिएजैविकईंधनकेइस्तेमालकेलिएभारतसमेतदुनियाके19देशोंनेअपनीसहमतिकीमुहरलगाईथी।उससम्मेलनमेंविकसितदेशोंनेएकजुटतादिखातेहुएभविष्यमेंकोयलेसेबिजलीनिर्माणबंदकरनेकीशपथलीथी।

जीवाश्मईंधनमेंकोयलेसेविश्वकीतकरीबन40प्रतिशतबिजलीकानिर्माणहोताहै।डीजलइंजनकेआविष्कारकसररुडोल्फडीजलनेभविष्यवाणीकीथीकिअगलीसदीमेंविभिन्नयांत्रिकइंजनजैविकईंधनसेचलेंगेऔरइसीमेंदुनियाकाभलाभीहै।इसलिएऔरभीकिसंयुक्तराष्ट्रविश्वमौसमसंबंधीसंगठनकेसालानाग्रीनहाउसगैसबुलेटिनमेंकार्बनउत्सर्जनकेआंकड़ेचौंकानेवालेहैं।बीतेसालधरतीकेवायुमंडलमेंजिसरफ्तारसेकार्बनडाईआक्साइडगैसजमाहुईउतनीपिछलेलाखोंवर्षोंकेदौराननहींदेखीगई।कार्बनउत्सर्जनकायहदरसमुद्रतलमें20मीटरऔरतापमानमेंतीनडिग्रीसेल्सियसइजाफाकरनेमेंसक्षमहै।

इसकोरोकनेकेलिएजैविकईंधनकाइस्तेमालकियाजानाचाहिए।यहजीवाश्मईंधनकीतुलनामेंएकस्वच्छईंधनहै।भारतमेंजैविकईंधनकीवर्तमानउपलब्धतातकरीबन120-150मिलियनमीटिकटनप्रतिवर्षहै,जोकृषिऔरवानिकीअवशेषोंसेउत्पादितहै।जीवाश्मईंधनउसेकहतेहैं,जोमृतपेड़-पौधेऔरजानवरोंकेअवशेषोंसेतैयारहुआ,जबकिजैवईंधनउसेकहतेहैं,जोपृथ्वीपरविद्यमानवनस्पतिकोरासायनिकप्रक्रियासेगुजारकरतैयारकियाजाताहै।उदाहरणकेलिएगन्नेकेरसकोअल्कोहलमेंबदलकरउसेपेट्रोलमेंमिलायाजाताहै।यामक्काकेदानोंमेंखमीरउठाकरउससेईंधनतैयारकियाजाताहै।इसकेअलावाजट्रोपा,सोयाबीनऔरचुकंदरइत्यादिसेभीईंधनतैयारकियाजाताहै।

अच्छीबातयहहैकिजैविकईंधनकार्बनडाईआक्साइडकाअवशोषणकरहमारेपरिवेशकोस्वच्छरखताहै।अगरइसकाइस्तेमालहोताहैतोइससेईंधनकीकीमतेंघटेंगीऔरपर्यावरणकोभीकमनुकसानहोगा।भारतमेंकृषिक्षेत्रकोजैविकईंधनकेउत्पादनसेजोड़दियाजाएतोकिसानोंकाभीभलाहोगा।केंद्रसरकारद्वाराराष्ट्रीयजैवईंधननीतिको11सितंबर,2008कोमंजूरीदीजाचुकीहै।इसेमूर्तरूपदियाजानाचाहिए।

(लेखकस्वतंत्रटिप्पणीकारहैं)

By Cooper