शारीरिक शिक्षा

रांची,राज्यब्यूरो।JharkhandSamachar,SpecialNewsदिव्यांगप्रफुलितकंडुलना,खूंटीकेरनियांप्रखंडकेजयपुरगांवमेंरहतीहैं।अबघरबैठेहीहरमहीनेकेअंतिमदिनसरकारद्वारामिलनेवालीपेंशनकालाभउठारहीहैं।भलेहीवहआखि‍रीदिनरविवारहीक्योंनहो।कुछसमयपहले,पेंशनप्राप्तकरनेकेलिएप्रफुलितकंडुलनाकोचार-पांचमहीनेमेंएकबारकईपरेशानियोंसेजूझतेहुएभाड़ाखर्चकरबैंककेचक्करलगानेपड़तेथे,लेकिनयहअबबीतेदिनोंकीबातहोगईहै।

यहसंभवहुआहै,राज्यसरकारद्वारानियुक्तबैंकिंगसखीकॉरेस्पॉडेंटयायूंकहेंकिबीसीसखीकीवजहसे।प्रफुलितकंडुलनाबतातीहैंकिबीसीसखीगायत्रीतोदेवदूतबनकरमेरेजीवनमेंआई।अबमैंघरबैठेपेंशनकेपैसेउनसेलेसकतीहूं।गायत्रीजैसीकरीब3300सखीमंडलकीबहनेंआजअपनेगांव-पंचायतमेंबैंकिंगसखीकॉरेस्पॉडेंटकेरूपमेंकरीब2.5लाखलोगोंतकडोरस्टेपबैंकिंगसुविधाएंपहुंचारहीहैं।इससेतकरीबन90से100करोड़रुपयेकालेन-देनसुनिश्चितहोरहाहै।

सरकारकीमुहिमलारहीरंग

राज्यकेग्रामीणइलाकोंमेंबैंकिंगसुविधाओंकोहरघरतकपहुंचानेकीमुहिमरंगलारहीहै।ग्रामीणविकासविभागकेअंतर्गतझारखंडस्टेटलाइवलीहुडप्रमोशनसोसाइटी(जेएसएलपीएस)द्वाराविभिन्नबैंकोंकेसाथसाझेदारीमेंबैंकिंगकॉरेस्पॉडेंटसखीकोराज्यकेग्रामीणइलाकोंमेंपदस्थापितकियागयाहै।राज्यसरकारद्वारासखीमंडलकीबहनोंकोचयनितएवंप्रशिक्षितकियाजारहाहै।इसपहलसेसुदूरग्रामीणइलाकोंमेंबैंकिंगसुविधाएंमिलनेलगीहैं।वहीं,सखीमंडलकीबहनोंकोभीबैंकिंगकॉरेस्पॉडेंटसखीकेरूपमेंएकनयारोजगारमिलाहै।इससेउनकीछहसे12हजाररुपयेतककीमासिकआमदनीहोरहीहै।

बीसीसखीकेजरिएघर-घरपहुंचतीबैंकिंगसेवाएं

रांचीकेओरमांझीप्रखंडकीसोनीदेवीसखीमंडलकीएकसक्रियसदस्यहैऔरवहकरीबदोसालसेबीसीसखीकेरूपमेंगांवोंकोबैंकिगसेवाएंदेरहीहैं।उन्होंनेअपनाबैंकिंगसेवाकेंद्रभीखोलाहै।वेकहतीहैंकिवेबीसीसखीकेरूपमें,हरमहीनेकरीब25लाखरुपयेकालेन-देनकरतीहैं।इससे,एकओरउन्हेंकरीबआठहजाररुपयेकीआमदनीहोजातीहै।ओरमांझीस्थितगगारीगांवकी80वर्षीयबिपतिदेवीकहतीहैं,मैंअबचलने-फिरनेमेंसक्षमनहींहूंलेकिनघरबैठेहीवृद्धापेंशनबीसीसखीआकरउपलब्धकरादेतीहै।

By Daniels