शारीरिक शिक्षा

बाराबंकी:करीबएकदशकबादभगहरझीलसाइबेरियनपक्षियोंकेकलरवसेगूंजरहीहै।तहसीलप्रशासनकेप्रयाससेहुएश्रमदानसेझीलमेंजमाजलकुंभीकीसफाईकेबादऐसासंभवहोसकाहै।अमूमनसर्दमौसमकीदस्तककेसाथयेपक्षीहजारोंकिमीदूरसेझीलमेंआतेथे।मानाजारहाहैकिअगलेवर्षइनपक्षियोंकीसंख्यामेंऔरइजाफाहोसकतीहै।

वनविभागकेमुताबिक,प्रवासीपक्षियोंकेइसझुंडमेंपांचप्रजातियोंकेकरीब150विदेशीपक्षीदेखेगए।इनमेंअधिकांशसिल्हीपक्षीशामिलहैं।इसकेअलावासफेदआंखवालेबतख,लालसर,नीलसर,जलकाकपक्षीभीयहांपहुंचेहैं।फतेहपुररेंजकेक्षेत्रीयवनदारोगाजावेदअंसारीबतातेहैंकिविदेशीपक्षियोंकीगणनाकीजारहीहै।

2008मेंरूठगएथेविदेशीमेहमान:करीब87बीघेमेंफैलीभगहरझीलकावातावरणसाल2008तकसाइबेरियनपक्षियोंकेअनुकूलरहा।लेकिन,2008-09मेंआईबाढ़केसाथनदीनालोंकीजलकुंभीझीलमेंएकत्रहोगईथी।बाढ़कापानीखत्महोनेकेबादभीझीलकीसफाईनहींकराईगई।जलकुंभीकाफैलावबढ़नेकेसाथहीसाइबेरियनरुठतेगए।इसकास्थानीयवन्यजीवोंपरभीप्रतिकूलअसरपड़ा।एसडीएमराजीवशुक्लानेकार्यभारसंभालनेकेकुछदिनबादनिरीक्षणकियाऔरझीलकीबदहालीकोदेखतेहुएश्रमदानसेसफाईकराई।

'पक्षियोंकीगिनतीकाप्रस्तावबनायारहाहै।संख्यामेंवृद्धिकेप्रयासकिएजारहेहैं।टीलेकानिर्माणहोगाताकिविदेशीपक्षीपानीसेनिकलकरस्वच्छवातावरणमेंधूपकाआनंदलेसके।सुंदरीकरणकाप्रस्तावशासनकोभेजाजाचुकाहै।''

नावेदसिद्दीकी,वनक्षेत्राधिकारी,फतेहपुर।

By Dale