शारीरिक शिक्षा

चिन्मयभट्ट।कृषिप्रधानहोनेसेपहलेभारतएकराजनीतिप्रधानदेशहै।जनसंख्यानियंत्रणपरकानूनलानेऔरउसकीसंवैधानिकवैधताकोअदालतमेंसाबितकरनेसेपहलेयहसाबितकरनाहोगाकियहकानूनकिसीधर्मविशेषकेलोगोंकोपरेशानकरनेकीनीयतसेनहींलायाजारहाहै।कुछमाहपूर्वउत्तरप्रदेशसरकारनेइससंबंधमेंपहलकीहै।हालांकिउत्तरप्रदेशसरकारकायहप्रस्तावितकानूनदेशकेकुछअन्यराज्योंमेंपहलेसेहीलागूइसीतरहकेकानूनोंसेप्रेरितबतायाजारहाहै।गुजरात,तेलंगाना,आंध्रप्रदेश,राजस्थान,मध्यप्रदेशऔरमहाराष्ट्रमेंऐसाकानूनपहलेसेहै।कुछमाहपूर्वहीअसमकेमुख्यमंत्रीभीऐसाकानूनबनानेकीबातकहचुकेहैं।

वैसेसमझनायहभीहोगाकिजिनराज्योंमेंऐसेकानूनलागूहैं,वहांपरभीइनकेलागूहोनेकेबादकोईखाससंस्थागतसमीक्षानहींकीगईहैकियेकानूनकितनेकामयाबसाबितहुएहैं।राज्योंमेंजनसंख्यावृद्धिकीदरकोदेखतेहुएलगतानहींकिउससेकोईज्यादाफायदाहुआहै।राजस्थानमेंइसमें2018मेंकईसंशोधनकरनेपड़े,क्योंकिसरकारीकर्मचारियोंनेइसकानूनकाविरोधकिया।मध्यप्रदेशमेंभीइसकानूनकेकईप्रविधानोंकोबदलागया।पंजाबनेभी2018मेंऐसाहीकानूनबनानेकीबातकहीथी,लेकिनअभीतकयहपाइपलाइनमेंहीहै।हरियाणामेंयहकानूनजरूरबनाथा,लेकिनउसकीसंवैधानिकवैधताकोउच्चतमन्यायालयमेंचुनौतीदीगईथी।एकयाचिकाकेसंबंधमेंउच्चतमन्यायालयनेभीपिछलेवर्षकेंद्रसरकारसेऐसेकानूनलानेकेबारेमेंजानकारीमांगीथी।केंद्रसरकारकाजवाबथाकिअभीवहऐसीकोईनीतिबनानेकेपक्षमेंनहींहैऔरअंतरराष्ट्रीयजनसंख्याऔरविकाससम्मेलन1994केनियमोंसेवहबंधाहुआहै।

अगरदुनियाकेबड़ेदेशोंकीबातकरेंजहांजनसंख्याएकबड़ीसमस्याहै,तोचीनने1979मेंइससमस्यासेनिपटनेकेलिएसख्तकानूनबनातेहुएएकबच्चेकीनीतिलागूकीथीऔरयहकरीब35सालतकलागूरही।विशेषज्ञोंकीमानेंतोइसनेचीनकेलिएकईसमस्याएंखड़ीकरदीं।लिहाजावर्ष2016मेंचीननेइसनीतिमेंबदलावकियाऔरदोबच्चोंकीअनुमतिदी।इसकेबावजूदवहांकीसमस्याएंखत्मनहींहुईंतोहालमेंचीननेतीनबच्चेपैदाकरनेकीछूटदीहै।चीनकेअलावासिंगापुर,वियतनाम,ब्रिटेनऔरहांगकांगसहितकईअन्यदेशोंनेभीदोबच्चोंकीनीतिकोलागूकिया।लेकिनबादमेंअनेकदेशोंकोइसनीतिमेंबदलावकरनापड़ा,क्योंकिइससेउम्मीदकेमुताबिककामयाबीनहींमिलीऔरकईसामाजिकसमस्याएंभीखड़ीहोगईथीं।

भारतमेंभीदेखेंतोआपातकालकेदौरानजबरनकिएजानेवालेनसबंदीकार्यक्रमकापुरजोरविरोधहुआथा।दोसेज्यादाबच्चेपैदाकरनेवालेलोगोंकोदंडितकरनाउन्हेंऔरउनकेतीसरेबच्चेकोतमामसुविधाओंसेवंचितकरनाकाफीहदतकअमानवीयऔरअनैतिकहोनेकेसाथअसंवैधानिकभीप्रतीतहोताहै।ऐसाकोईभीकानूनलानेसेपहलेकेंद्रसरकारको‘हमदोहमारेदो’कानाराइतनेवर्षोबादकितनाकारगरसाबितहुआहै,इसपरभीविचारकियाजानाचाहिए। आजकेदौरमेंऐसेकानूनकोजनतापरथोपनालाभकारीसाबितनहींहोगा।कुछसमयकेलिएउसकेबदलावनजरआसकतेहैं,लेकिनलंबेसमयमेंउसकेउद्देश्योंकोहासिलनहींकियाजासकताहै।

[अधिवक्ता,उच्चतमन्यायालय]

By Cooper