शारीरिक शिक्षा

जागरणसंवाददाता,धनबाद:सरकारीअस्पतालवस्वास्थ्यकेंद्रअक्सरदवानहींरहनेकेकारणसुर्खियोंमेंरहतेहैं।दूर-दराजसेआनेकेबादपताचलताहैकिअस्पतालमेंदवानहींहैं।लिहाजामायूसहोकरमरीजोंकोलौटनापड़ताहै,लेकिनअबई-औषधिपोर्टलसेमरीजोंकोदवाओंकीसटीकजानकारीमिलपाएगी।

लोगघरबैठेअपनेकंप्यूटरयामोबाइलसेएकक्लिकमेंकिसीभीसरकारीअस्पतालयास्वास्थ्यकेंद्रमेंदवाकीउपलब्धताजानसकेंगे।धनबादमेंभीनयीव्यवस्थाई-औषधिपोर्टलकेतहतकामकीशुरूआतकरदीगयीहै।इसनयीव्यवस्थाकेतहतधनबादकेसभीसरकारीअस्पताल,सभीप्रखंडोंकेसामुदायिकस्वास्थ्यकेंद्रकोजोड़ेजारहेहैं।

स्थानीयस्तरपरदवाओंकीखरीदारीहोगीबंद:नईव्यवस्थाकेतहत,स्थानीयस्तरपरदवाओंकीखरीदारीबंदहोगी।इसकेलिएमुख्यालयनेधनबादकोसूचनाभेजीहै।पहलेराष्ट्रीयस्वास्थ्यमिशनकेतहतस्थानीयस्तरपरस्वास्थ्यकेंद्रोंवअस्पतालोंमेंदवाएंखरीदीजातीथी,लेकिनव्यवस्थाकोबंदकरनेकाफरमानजारीकियागयाहै।अबमुख्यालय(रांची)अपनेस्तरसेधनबादसहितसभीजिलोंकोदवाएंभेजेगी।

मिलेंगी139तरहकीदवाएं: अस्पतालोंवस्वास्थ्यकेंद्रोंको139तरहकीदवाएंउपलब्धकराईजाएगी।रांचीमेंइसकेलिएखरीदारीशुरूकरदीगयीहै।कमसेकमतीनमाहतकदवाएंउपलब्धरहेगी।दवाएंखत्महोनेसेपहलेरांचीकीओरसेउपलब्धकरादीजाएंगी।

ऐसेकामकरेगाई-औषधिपोर्टल: ई-औषधिपोर्टलविभागीयअधिकारियोंसेलेकरआमलोगभीप्रयोगकरसकतेहैं।पोर्टलपरजानेकेबादअपनेनिकटतमस्वास्थ्यकेंद्र,प्रखंडवजिलाकेनामकीएंट्रीकरनीहोगी।इसकेबादउसकेंद्रयाअस्पतालमेंहरदिनदवाओंकीउपलब्धताकीसूचीमिलजाएगी।

धनबादकेसिविलसर्जनडॉ.गोपालदासनेकहाकिनईव्यवस्थाधनबादमेंशुरूकरदीगईहै।दवाओंकीकमीकीसमस्यापररोकलगेगी।ई-औषधिसेकहींसेभीदवाओंकीबारेमेंजानकारीलीजासकतीहै।