शारीरिक शिक्षा

संवादसहयोगी,रुड़की:विश्वरंगमंचदिवसकेउपलक्ष्यमेंशनिवारदेरशामको'कौआचलाहंसकीचाल'नाटककामंचनकियागया।नाटककोदेखकरदर्शकहंस-हंसकरलोटपोटहोगए।

मालवीयचौककेसमीपस्थितआनंदममेंनाटककामंचनकियागया।नाटककेनिदेशकएवंराष्ट्रीयनाट्यविद्यालयसेप्रशिक्षितविजयराजवंशीनेबतायाकियहहास्यनाटकथा।इसमेंमिस्टरकुमारनामकाव्यक्तिखुदकोबड़ाबनानेकेलिएअपनेघरमेंसंगीतटीचर,डांसटीचर,दर्जीबॉडीबिल्डर,तलवारबाजएवंदार्शनिकआदिरखलेताहै।उसकीपत्नीइनबातोंसेबहुतपरेशानरहतीहै।मिस्टरकुमारकीएकबेटीहै,जिसकानामडोलीजोकक्कूनामकेलड़केसेप्रेमकरतीहै।मिस्टरकुमार,कुक्कूसेअपनीलड़कीकाविवाहइसलिएकरनेसेमनाकरदेताहै,क्योंकिवहअमीरव्यक्तिनहींहै।

नटराजग्रुपकेसंस्थापकविजयराजानेबतायाकियहमात्रनाटकनहींथा,बल्किएकसंदेशभीथा।जोबताताहैकिदूसरोंकाजैसाबननेसेअच्छाहै,खुदकीपहचानबनाएं।नाटकमेंमिस्टरकुमारकेरोलमेंफसीखान,श्रीमतीकुमारकाअभिनयउर्वशीसैनीऔरदार्शनिककीभूमिकामेंराहुलकश्यपकाअभिनयप्रभावशालीरहा।इसकेअलावाउत्कर्षचौहान,राहुलकश्यपजी,ईशान,सुब्रतराव,धीरजबत्राकाअभिनयभीअच्छारहा।

इससेपहलेमुख्यअतिथिअरविदकश्यप,विशेषअतिथिकमलचावला,नरेशराजवंशी,राजेंद्रधरनी,विजयराजा,आदर्शगुप्ता,अनिलवर्मा,नवीनतायल,अमितसाना,अमितआहूजा,अजयराजवंशीनेदीपजलाकरकार्यक्रमकीशुरुआतकी।मंचकासंचालनडॉ.सुरजीतसिंहगांधीनेकिया।

By Daly